यक्ष साधना
श्मशानेश यक्ष साधना कैसे करें ?
January 20, 2024
पुत्रदा यक्षिणी
पुत्रदा यक्षिणी साधना विधि :
January 20, 2024
अग्नि बैताल

अग्नि बैताल सिद्धि हेतु मंत्र की साधना :

अग्नि बैताल मंत्र :
ॐ नमो अगिया बीर बैताल। पैठि सातबें पाताल, लांघ
अग्नि की जलती झाल। बैठि ब्रह्मा के कपाल । मछली,
चील, कागली, गूगल, हरिताल। इन बस्तां को लै
चलि, न लै चलै तो माता कालिका की आन। ।

अग्नि बैताल सिद्धि मंत्र बिधि : होली की रात को मंत्र में कही हुई सामग्री लेकर किसी एकांत स्थान में बैठकर इस मंत्र का जप करें । साधना के समय धूप तथा दीप प्रज्वलित करें । जप से प्रसन्न होकर जब अग्नि बैताल आए तो उसे उपरोक्त सामग्री दे दें । प्रयोग के समय किसी कंकडी को लेकर एक सौ आठ बार इस मंत्र को पढकर फूंक मारेंगे और जहाँ फेंक देंगे बहीं आग लग जाएगी ।

Facebook Page

यदि आप को सिद्ध तांत्रिक सामग्री प्राप्त करने में कोई कठिनाई आ रही हो या आपकी कोई भी जटिल समस्या हो उसका समाधान चाहते हैं, तो प्रत्येक दिन 11 बजे से सायं 7 बजे तक फोन नं . 9438741641 (Call/ Whatsapp) पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *