अघोर स्त्री वशिकरण उपाय :

अघोर स्त्री वशिकरण उपाय :

अघोर स्त्री वशिकरण : तंत्र मंत्र टोना टोटका के माध्यम से जनसाधारण का कल्याण कर्म अति प्राचीनकाल से होता आ रहा है । परंतु दुःख का बिषय है कि इस महती बिद्या को कुछ लोगों ने अपना एकाधिकार बनाये रखने के लिए, कुछ ने अज्ञानताबश और कुछ लोगों ने अपने जीबिकोपार्जन के मोह में सदैब ही छिपाया है । जिसका परिणाम यह हुआ कि आज यह बिद्या लुप्तप्राय हो गयी है । कुछ ढोंगी तथाकथित भगतों, तांत्रिकों के ढोंगी कार्यों और क्षुद्र ब्यबहार के कारण भी सामान्य लोगों की श्रद्धा और बिश्वास इस बिद्या से उठ सा गया है । यद्यपि इस बिद्या के बैज्ञानिक स्वरुप को बिद्वानों ने भी गंभीरता से नहीं लिया और न हीं इसकी उपयोगिता पर बिचार किया , तो भी सर्बाधिक प्रसिद्धि तंत्र मन्त्रों के रूप से इसी बिद्या को मिली है । यदि अपने चारो और देखे तो सम्पूर्ण तांत्रिक बाड्मय में केबल चार -पांच ग्रंथों का ही उल्लेख मिलता है ।
जबकि सम्पूर्ण भारत के ग्रामीण अंचलों एबं जनजातियों में यह बिद्या पूर्णरूपेण रची -बसी है । आज भी बहुत से ओझा और तांत्रिक ऐसे है जो इस बिद्या के तंत्र मंत्र के द्वारा बिभिन्न लौकिक कार्य सरलतापुर्बक संपादित करके यश-सम्मान अर्जित करते रहते हैं । आज यंहा आप सबके सामने ऐसे ही कुछ उपाय (अघोर स्त्री बशिकरण ) दे रहा हूँ , जिसको आप आसानी से प्रयोग करके लाभ उठा सकते हो । यह अघोर स्त्री वशीकरण प्रयोग बैबाहिक जीबन को सुधार ने केलिए जादातर उपयोग किया जाता है , दूसरा कुछ गलत उद्देश्य को फलबती करने की इच्छा मन में रख कर किया जाए तो इसका परिणाम बहुत भयानक होता है ।

अघोर स्त्री वशिकरण टोटका :

(क) अघोर स्त्री वशिकरण में से एक उपाय यह है , शुक्लपक्ष रबिबार सुबह सुबह आप किसी भी सम्शान से थोड़ी सी मात्रा से चिताकी राख को सही बिधि बिधान से ग्रहण कर लेना चाहिए , उसके बाद चर्बी, कुरेया, तगर, केशर ईन सब्को बराबर मात्र से लेकर पीस डाले, यह चुर्ण आप स्त्री के मस्तक पर और पुरुषके पाव पर लगा देने ने से बह स्त्री और पुरुष जन्म भरके लिये दास हो जाते है. इसका पूर्ण बिधि बिधान से हो जाए तो कितना भी बड़ा झगडा पति -पत्नी के बिच क्यूँ न हो , वो दुबारा फिर से एक हो जायेंगे । (परीक्षित)
 
(ख) तीस चने,सोलह इंद्रोजो,गाय का दांत, मनुष्य का दांत को तिल तेल के साथ पीसकर माथेपर तिलक करे सभि स्त्री वशमे हो जायेगि । (अघोर स्त्री वशिकरण का सम्पूर्ण ज्ञान किसी बिद्वान पंडित से लेना चाहिए , क्यूँ ना यह सब बस्तु को संग्रह करने का एक समय होता है …तभी यह प्रयोग करने से पूर्ण रूप से आपको सफलता मिल सके ) ।
 
(ग) अश्विनी नक्षत्र में ढाक के पेड की जड लावे , इसको अघोर स्त्री वशिकरण मंत्र से 108 बार अभिमंत्रित करके गले में धारण करने से हरेक स्त्री इससे वशमें हो जाते है । लेकिन इसका गलत फायदा ना उठाये ।
 
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार
समस्या के समाधान के लिए संपर्क करे: मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}
जय माँ कामाख्या

Leave a Comment