अत्यंत दुर्लभ कर्णपिशाचिनी साधना :::
अत्यंत दुर्लभ कर्णपिशाचिनी साधना कैसे करें ?
May 15, 2024
बार्ताली देबी साधना :
बार्ताली देवी साधना कैसे करें?
May 15, 2024
प्रश्न का भेद जानना :

प्रश्न का भेद जानना :

प्रश्न का भेद जानना : मंत्र को सिद्ध करें । रोगी का हाथ पकड़ कर प्रश्न का भेद जानना मंत्र स्मरण करें तो मन में प्रश्नोत्तर की भाबना पैदा होगी ।चौपाया जानवर या बस्तु की चोरी, किसी के गमन पर उस स्थान की मिट्टी मंगाये तथा प्रुछ्क के घर से गेहू या चाबल ७ मुठी सात बार घुमाकर मंगाये । मिट्टी को अक्षत या गेंहूं में डाल देबे, फिर मंत्र जप कर प्रश्नोत्तर हेतु सम या बिषम अंक सोच कर गेहू या चाबल उठाये तो उनको सम या बिषम गिनकर उसका फलादेश जाने ।

मंत्र :- स्वरासाती स्वरासाती स्वरासती मेरी मां। सतगुरु बन्धो पार, जसना देब राढा । गौरी गणेश गौरा पार्बती महादेब ढूणढराज, बिश्वनाथ कालभैरब कोतबाल, भीम नकुल सह्देब अर्जुन धर्मराजा राजा रामचन्द्र, महाबीर ज्वालामुखी, हिंगलाज, दूरंगा, महाकाली, गुरु का बचन न जाय खाली । श्री गंगा राजा रामचंद्र जी, पांचो पणडबा, छठे नारायणा निरंकार, महादेब जी, गौरा पार्बती महाबीर हनुमान जी । कउने बरन का अक्षत दोख भाल, डांड दइबी, चउबा चारपाया का नुक्सान मनई दुखी कि लड़का जनाना, कि घर लुट्गा, कि चोरी होइ गई, जगदंबा मूल अक्षर दया बताई ।

आज की तारीख में हर कोई किसी न किसी समस्या से जूझ रहा है । हर कोई चाहता है कि इन समस्याओ का समाधान जल्द से जल्द हो जाए, ताकि जिंदगी एक बार फिर से पटरी पर आ सके । आज हम आपको हर समस्या का रामबाण उपाय बताएंगे, जिसे करने के बाद आपकी हर समस्या का समाधान हो जाएगा ।

Our Facebook Page Link
समस्या का समाधान केलिये संपर्क करे : 9438741641 /9937207157 (call / whatsapp)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *