शाबर स्त्री वशीकरण मंत्र उपाय
शाबर स्त्री वशीकरण मंत्र उपाय :
April 4, 2024
माँ बगलामुखी
शत्रु को मृत्यु तुल्य दंड देती है माँ बगलामुखी
April 5, 2024
शत्रु नाशक बगला प्रयोग :

शत्रु नाशक बगला प्रयोग कैसे करें ?

बगला प्रयोग साधना उन साधको के लिये है, जो शत्रू के कारण समस्याओ से घिर जाते है । वैसे दरिद्रता, रोग, दुख ये भी माँ कि दृष्टि मे आपके शत्रू ही है । अतः सभी को यह साधना करनी चाहिये ।
जिस साधक पर भगवती बगलामुखी की कृपा हो जाती है, उसके शत्रु कभी अपने षड़यंत्र मे सफल नही हो पाते है । क्युकी भगवती का मुद्गर उन शत्रुओ की समस्त क्रियाओ को निस्तेज कर देता है ।
यह बगला प्रयोग साधना किसी भी रविवार को करे । समय रात्रि १० के बाद का रखे । आसन वस्त्र पिले हो । आपका मुख उत्तर की और होना चाहिये । सामने बाजोट रखकर उस पर पिला वस्त्र बिछा दे और वस्त्र पर पिले सरसो कि एक ढ़ेरी बनाये । इस ढ़ेरी पर एक मिट्टि का दिपक सरसो का तेल डालकर प्रज्जवलित करे । ईसके अतिरिक्त किसी सामग्री की आवश्यक्ता नही है । दिपक की सामान्य पुजन कर गुड़ का भोग अर्पित करे । अब संकल्प ले ।
{ हे माता बगलामुखी हर शत्रू से, रोगो से, दुखो से, दरिद्रता से तथा हर कष्ट प्रद स्थिती से रक्षा हेतु मै यह प्रयोग कर रहा हु । आप मेरी साधना को स्विकार कर । मुझे सफलता प्रदान करे । }
अब निम्न मंत्र कि पिली हकीक माला,हल्दि माला,अथवा रूद्राक्ष माला से २१ माला करे ।
बगला प्रयोग मंत्र : ” क्रीं ह्लीं क्रीं सर्व शत्रू मर्दिनी क्रीं ह्लीं क्रीं फट् “
 
यह मंत्र महाकाली समन्वित बगला मंत्र है । जो कि अत्यंत तिव्र है । ईसका जाप वाचिक कर पाये तो उत्तम होगा अन्यथा उपांशु करे । पंरतु मानसिक ना करे । जाप समाप्त होने के बाद घृत मे सरसो मिलाकर १०८ आहुति प्रदान करे । इस प्रकार साधना पुर्ण होगी । साधना के बाद पुनः स्नान करना आवश्यक है ।
अगले दिन गुड़, सरसो पिला वस्त्र किसी वृक्ष के निचे रख आये । यह एक दिवसीय प्रयोग साधक को शत्रू से मुक्त कर देता है । साधक चाहे तो साधना को ३,७, या २१ दिवस के अनुष्ठान रूप मे भी कर सकता है ।
चेतावनी –
सिद्ध गुरु कि देखरेख मे साधना समपन्न करेँ , सिद्ध गुरु से दिक्षा , आज्ञा , सिद्ध यंत्र , सिद्ध माला , सिद्ध सामग्री लेकर हि गुरू के मार्ग दरशन मेँ साधना समपन्न करेँ । बिना गुरू साधना करना अपने विनाश को न्यौता देना है ।

सम्पर्क करे (मो.) 9937207157/ 9438741641 {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *