मंगलवार के दिन नहीं करने चाहिए ये काम :
मंगलवार के दिन नहीं करने चाहिए ये काम :
February 12, 2024
शत्रुबाधा निबारक सात मंगलबार प्रयोग :
शत्रुबाधा निबारक सात मंगलबार प्रयोग :
February 12, 2024
बिल्लियों

बिल्लियों को अशुभ क्यों माना जाता है ?

बिल्लियों को प्रारम्भ से ही अशुभ माना जाता है और हम देखते आये है की अगर बिल्लियों रास्ता काट दे तो हम उस रस्ते पर नही जाते है या फिर जाना केंसल कर देते है । अगर आपके घर में अचानक ही बिल्लियों का आना बढ़ गया है तो इसे सामान्य बात मानकर अनदेखी नहीं करें । यह भविष्य में होने वाली घटना का सकेत हो सकता है । इसलिए सावधान हो जाएं और घर में सत्यनारायण भगवान की पूजा करवाएं अथवा कोई हवन का अनुष्ठान करें ।
इसका कारण यह है कि बिल्लियां के घर में बार-बार आने से बिल्ली के दूध पी जाने का खतरा ही नहीं रहता बल्कि घर में नकारात्मक उर्जा बढ़ने लगती है । नारद पुराण में बताया गया है कि बिल्लियां की पैरों की धूल जहां भी उड़ती है वहां सकारात्मक उर्जा की हानि होती है यानी शुभ का नाश होता है । तंत्र-मंत्र की साधना करने वाले बिल्ली को काली शक्ति का प्रतीक मानते हैं और बिल्लियाँ की पूजा करते हैं । बिल्लियों का पितरों से भी संबंध माना गया है । इसलिए भी बिल्लियाँ का घर में आना अशुभ माना जाता है।
जिस घर में अक्सर बिल्लियों का आना-जाना लगा रहता है उस घर में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव बना रहता है । एक के बाद एक समस्याएं आने के कारण घर का मुखिया तनाव में रहता है । बिल्लियों के बारे में मान्यता है कि भोजन करते समय बिल्ली आकर देखे तो कष्ट होता है । अगर मल मूत्र कर दे तो बड़ी हानि होती है । आज कल कुछ लोगों में बिल्लियां पालने का शौक बढ़ा है ।
तब भाग जाती है पालतू बिल्लियाँ –
ऐसे लोगों के यहां कोई अशुभ घटना होने पर बिल्लियां का आना बढ़ने की बजाय । इनकी पालतू बल्ली भी घर से भाग जाती है । इसका कारण यह है कि बिल्लियां की छठी इन्द्री अधिक सक्रिय होती है जिससे उन्हें पूर्वाभास हो जाता है और घर छोड़कर भाग जाती है ।

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *