रंभा अप्सरा साधना
रंभा अप्सरा साधना कैसे करें ?
March 15, 2024
लीलावती अप्सरा साधना :
लीलावती अप्सरा साधना कैसे करें ?
March 15, 2024
साक्षात यौवनांगी मदनाक्षी अप्सरा साधना :

साक्षात यौवनांगी मदनाक्षी अप्सरा साधना क्या है ?

मदनाक्षी अप्सरा साधना सिर्फ गृहस्थों के लिए है । मदनाक्षी बहोत सुंदर है और साधक वर्ग के लिये उचित सहाय्यता प्रदायक भी है । मदनाक्षी की उत्पति तो अपने आप मे एक दुर्लभ बात मानी जाती है जो लक्ष्मी तत्व युक्त अप्सरा है । भगवान विष्णुजी सिर्फ एक ही अप्सरा से प्रेम करते है क्यूकी वह उनके मोहिनी रूप की तरहा ही सुंदर है । मदनाक्षी को सर्वांग सुंदरी साधना के नाम से सन्यासियों मे जाना जाता है परंतु सन्यासी इस साधना से वर्जित माने जाते है । मदनाक्षी किसी भी रूप मे साधक को दर्शन देती है वह कोई भी रूप धारण कर सकती है । मदनाक्षी साधना के माध्यम से जीवन का भौतिक क्षेत्र पूर्ण हो जाता है । साधक के जीवन मे धन की कोई भी कमि नहीं होती है । मदनाक्षी साधक को विशेष रूप से धन प्राप्ति के अवसर प्रदान करती है यह कई साधको का अनुभव है । गड़े धन को बाहर निकालने के लिये जिस ज्ञान की आवश्यकता होती है वह ज्ञान मदनाक्षी साधक को प्रदान करती है और साथ मे सहाय्यता भी करती है । मदनाक्षी को सिद्ध करने के बाद वह साधको के आवाहन पर कही भी किसी भी समय आती है यह इस अप्सरा की विशेष भूमिका है, इस साधना से आप किसी भी व्यक्ति के मन की बात जान सकते है, भविष्य मे होने वाली घटनाये मदनाक्षी प्रत्यक्ष रूप मे दिखा देती है, इस साधना से काम शक्ति अत्यधिक बढ़ जाती है, नपुसकत्व व्यक्ति भी जीवन मे पूर्ण पुरुष बन जाता है, इस साधना मे किसी भी प्रकार की अनुभूतिया बताना वर्जित है और कष्टदायक भी है, इस साधना मे सिद्धि 100% मिलती ही है । मदनाक्षी अप्सरा यंत्र जिसे सिर्फ पुर्णिमा के रात्री मे प्राण-प्रतिष्ठित किया जा सकता है तभी वह यंत्र सिद्धिप्रद बनाता है ।
मदनाक्षी अप्सरा माला जिसका हर मणि चैतन्य होना चाहिये,बाकी जो भी ४ प्रकार की सामग्री लगती है उन्हे यहा पे लिखना संभव नहीं परंतु जिन साधको की इस साधना मे रुचि है मै उन्हे संपर्क करने के बाद बता दुगा,पूर्ण साधना मे आपको मेरा मार्गदर्शन मिलता रहेगा ।

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *