शक्तिशाली सुलेमानी मंत्र : “हज़रत पैगम्बर अली कि चौकी”

शक्तिशाली सुलेमानी मंत्र : “हज़रत पैगम्बर अली कि चौकी”

जो सज्जन मुस्लिम पीर पैगम्बरों की पूजा करते है और चौकी वैगरह लगते है उनके लिये बहुत ही शक्तिशाली सुलेमानी मंत्र (कलाम) दे रहा हूं । पीर कोई भी हो इस कलाम के प्रभाव से पीर आपके हर कार्य में पहले सेे कहीं अधिक सहायता करेगा आपके काम आचानक होने लगेंगे । अपने भीतर आप एक दिव्य अहसास का अनुभव करेंगे ।
॥ शक्तिशाली सुलेमानी मंत्र ॥
“याही सार सार सार।
जिन्न देव परी नवस्कंफार।
एक खाय दूसरे को फार।
चहुं ओर अमिया पसार।
मलायक अस चार।
दुहाई दस्त्खे जिब्राईल।
बाईं वे खेई मिकाईल।
दाईं दस्न दस्न।
हुसैन पीठ खड़े खेई।
आमिल कलेजे राखे इज़राईल।
दुहाई मुहम्मद अली लाइल्लाहा की।
कंगूर ईल अल्लाह की खाई।
हजरत पैगम्बर अली की चौकी।
नख्त मुहम्मद रसूल इल्लाह की दुहाई।”
इस शक्तिशाली सुलेमानी मंत्र का हर रोज पश्चिम की और मुंह करके पाठ करें, शुक्रवार से शुरू करें बस केवल 10 मिनट लोहबान जलता रहे, अगरबती भी लगा सकते है कोई सुगंधित इत्र का छीड़काव जरूर करें, विशेष कोई नियम नहीं है कुछ ही दिनों में चमत्कार होने लगेगा ।
ये एक मुस्लिम शक्तिशाली सुलेमानी मंत्र है । कहीं भी कैसा भी डर या भय हो तो इस मन्त्र को 11 बार जप करके ताली बजा दो । पूर्ण सुरक्षा होगी । इस मंत्र से अगर झाड़ा भी लगाओगे तो शत पर्तिशत आराम होगा । अगर इसका 108 बार रात को नियमित जप होता है तो चौकी लगने लगेगी, जो आपको भूत भविस्य सब बताएगी ।
यह शक्तिशाली सुलेमानी मंत्र अति प्रभावशाली है । रांई, कील, धागा इत्यादि को 21 बार अभिमंत्रित कर चौकी दी जाती है । रोगी को धागा बना कर धारण कराया जाता है । जिस स्थान पर चौकी दी जाऐ वहां किसी प्रकार का तांत्रिक अभिचार नहीं होता । यह स्वयं सिद्ध मंत्र है । मंत्र याद हो जाऐ तो एक इत्र की शीशी और कुछ मीठा प्रशाद किसी मज़ार पर चढा देँ फिर प्रयोग करेँ ।

सम्पर्क करे: मो. 9937207157 /9438741641  {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Comment