देबी
रात्रि में देबी से बात करने का मंत्र :
January 31, 2023
अघोर घोर नाशक मंत्र
अघोर घोर नाशक मंत्र :
February 7, 2023
शत्रु नाशक तंत्र

शत्रु नाशक तंत्र :

शत्रु नाशक तंत्र (शत्रु की पेशाब बन्द करने का तंत्र) :
शत्रु ने जिस स्थान पर पेशाब किया हो, बंहाँ की मिट्टी ले आबें । फिर रबिबार के दिन एक छंछूदर को मार कर, उसकी खाल में बह मिट्टी भर दें एबं ऊंचाई पर टांग दें । इस प्रयोग से शत्रु का पेशाब बन्द हो जाता है और बह गूंगा अथबा बाबला होकर बहुत कष्ट पाता है जब उसे अच्छा करना हो, छंछूदर की खाल में से मिट्टी को निकाल दें तो बह ठीक हो जाता है ।

शत्रु नाशक तंत्र (शत्रु को बाबला करने का तंत्र ):
कौए का पंख और दायाँ पांब तथा स्यार की पूँछ को रबिबार के दिन लाकर धूप और गुग्गल की धूनी दें । फिर इन बस्तुओं को शत्रु के सोने की खाट में गुप्त रूप से उरस दें । उस खाट पर सोते ही बैरी बाबला हो जाता है । उक्त बस्तुओं को निकल लेने पर बह ठीक हो जायगा ।

शत्रु को कष्ट देने का तंत्र :
शत्रु जंहाँ पर मल मूत्र का त्याग करता हो, उस स्थान में रबिबार के दिन बिच्छू के डंक को गुग्गल की धूनी देकर गाढ़ देने से, शत्रु को अत्यंत कष्ट प्राप्त होता है ।

शत्रु को नपुंसक करने का तंत्र :
जिस मनुष्य को नपुंसक करना हो, बह जिस स्थान पर मूत्र त्याग करे, बंहाँ पर काला बिच्छू गाढ़ देने से बह ब्यक्ति नपुंसक हो जाता है । जब बिच्छू को उखाड़ लिया जाता है, तब ठीक हो जाता है ।

Our Facebook Page Link

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार
हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *