रक्षा कवच
शरीर और घर की रक्षा के लिए शाबर रक्षा कवच :
March 26, 2024
शाबर सुरक्षा मंत्र :
शाबर सुरक्षा मंत्र :
March 26, 2024
शाबर शरीर रक्षा मंत्र
(अ) “उत्तर बांधों, दक्खिन बांधों, बांधों मरी मसान, डायन भूत के गुण बांधों, बांधों कुल परिवार, नाटक बांधों, चाटक बांधों, बांधों भुइयां वैताल, नजर गुजर देह बांधों, राम दुहाई फेरों ।”
(ब) “जल बांधों, थल बांधों, बांधों अपनी काया, सात सौ योगिनी बांधों, बांधों जगत की माया, दुहाई कामरू कमक्षा नैना योगिनी की, दुहाई गौरा पार्वती की, दुहाई वीर मसान की ।”
शाबर शरीर रक्षा मंत्र प्रयोग विधि : उक्त दोनों शाबर शरीर रक्षा मंत्र में से किसी एक मंत्र को पर्व, संक्रांति, ग्रहण समेत किसी भी सिद्धकाल में कम से कम 2100 (11000 हो सके तो उत्तम) जपने पर प्रयोग के लिए तैयार हो जाता है । शरीर रक्षा की आवश्यकता पड़े तो सिद्ध मंत्र का नौ बार उच्चारण कर हथेली पर नौ बार फूंक मारें और हथेली को पूरे शरीर पर फिरा दें । इससे शरीर सुरक्षित हो जाएगा ।

सम्पर्क करे: मो. 9937207157 /9438741641  {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *