रक्षा मंत्र
महाकाली रक्षा मंत्र
May 2, 2024
जिन्न प्रकोप करने का मंत्र :
जिन्न प्रकोप करने का मंत्र
May 2, 2024
कामख्या स्त्री बशीकरण मंत्र

कामख्या स्त्री बशीकरण मंत्र :

“ओम नम: कामख्याय रूप सुन्दरी,
जगत मोहिनी त्रिपुर सुन्दरी ।
मोहिनी मोह मोह जगत नारी,
नारी-नारी जीब – जंन्तु,
सकल मोहे मोहिनी….मोहिनी मोहे…
ओम नम: गुरुदेब शक्ति तुम्हारी ।
सदा रहे लख्यबेध कभी न जाये खाली ।
 
पांचों प्रकार की हल्दी,धनिया, बच, सन्तेरे के छिलके (सुखे) –इनको पोटली में बांधकर अनार के पेड के निचे मंत्र पढकर (9 बार) दबा दें।यहाँ प्रतिदिन गाय का दीपक जलाकर उपर्युक्त मंत्र 1188 बार 21 दिन तक अर्ध रात्रि में पढें । इसके बाद निकालकर 21 दिन तक छाया में सुखायें ।
 
इसे कूट-पीसकर कपडे में छान लें । इस चूर्ण को किसी भी स्त्री को चेहरे पर गाय के दूध में लेप बनाकर (एक चम्म्च का) लगाने के लिए कहें । सुखने पर चेहरा धोने के बाद उस स्त्री पर त्रिभुबन मोहित हो जायेगा, परन्तु बह आप पर मोहित हो जायेगी ।
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार (मो.) 9438741641 /9937207157 {Call / Whatsapp}
जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *