पुतली आकर्षण क्रिया :
पुतली आकर्षण क्रिया :
March 26, 2021
पत्नी /प्रेमिका वसुधा वशीकरण यन्त्र :
पत्नी /प्रेमिका वसुधा वशीकरण यन्त्र :
March 26, 2021
पत्नी -प्रेमिका आकर्षण यंत्र :
पत्नी -प्रेमिका आकर्षण यंत्र :
आधुनिक समय में जबकि सामाजिक -पारिवारिक बंधन ढीले हो रहे हैं ,स्त्री स्वाभिमान की भावना बढ़ रही है तो स्त्री स्वाभिमान अभिमान में भी बदल रहा है |मर्यादाएं टूट रही हैं |इन स्थितियों में पत्नी या प्रेमिका भी पति अथवा प्रेमी से दूरी बना ले रही |कभी कभी तो धोखा भी दे दे रही |कभी दोनों में तनाव इस हद तक जा रहा की दोनों दूर हो जा रहे |रिश्ते पहले की अपेक्षा जल्दी बिखर रहे |ऐसी परिस्थिति में यदि पति अथवा प्रेमी खुद को पीड़ित महसूस करे ,लुटा -पिटा महसूस करे तो इस यन्त्र का प्रयोग कर सकता है और अपनी रूठी या दूर हुई या बात न मानने वाली पत्नी या प्रेमिका को वशीभूत कर सकता है या कर्षित कर सकता है |यदि लगाव ,प्यार सच्चा है ,और व्यक्ति सही है तो उसकी समस्या सुलझ जाती है |
इस यन्त्र को भोजपत्र पर शुभ मुहूर्त में जैसे दीपावली ,होली ,नवरात्र ,अक्षय तृतीया ,अमृत सिद्धि योग आदि में शुद्ध गोरोचन से भोजपत्र पर लिखकर मदन वृक्ष [ मैनफल ] की लकड़ी से मनवांछित स्त्री की कल्पना करके प्रतिमा बनाकर ,उसके ह्रदय में यह यन्त्र स्थापित कर ,लाल चन्दन व लाल रंग के फूलों से ,२१ दिन तक नियमित रूप से पूजा करे |
 
यदि केवल आकर्षण करना है तो ध्यान करे उसका यदि वशीकरण करना है तो वशीकरण मंत्र का कम से कम एक घंटा जप करे और लगातार उसका ध्यान करता रहे |यह क्रिया लगातार रात्री के समय २१ दिन करे | मनवांछित स्त्री मिलने की सम्भावना बने |किसी अनजान स्त्री ,युवती अथवा एक तरफ़ा प्यार में या मजबूत मनिबल वाली स्त्री या पतिव्रता गैर स्त्री पर इसका कोई प्रभाव न हो | अतः दुरुपयोग सोचकर क्रिया न करे ,असफलता हाथ लगती है | ध्यान रहे यन्त्र में प्रत्येक जगह जहाँ जहाँ देवदत्त के अक्षर आये हैं वहां पर स्त्री का नाम अक्षर गिनकर ऐसे स्थापित करें जैसे कमला देवी को “ॐ ह्रीं क ह्रीं म ह्रीं ला ह्रीं दे ह्रीं वी ह्रीं ” आदि सम्पुट करके लिखे |
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार
समस्या के समाधान के लिए संपर्क करे: मो. 9438741641  {Call / Whatsapp}
जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *