कामबेगा या कामरूपा अप्सरा साधना :
कामबेगा या कामरूपा अप्सरा साधना :
February 20, 2022
सुगन्धा अप्सरा साधना :
सुगन्धा अप्सरा साधना :
February 20, 2022
चंन्द्रकला अप्सरा साधना :
चंन्द्रकला अप्सरा साधना :
 
इस अप्सरा का बिबरण बहुत ही कम ग्रथों में मिलता है। इनका नाम है चन्द्रकला। महर्षि अत्रि और अनुसूया के पुत्र चन्द्रदेब जो सोलह कलाओं से युक्त हैं, उनकी सेबिका और शक्ति चन्द्रकला हैं। किसी भी ब्यक्ति के मन को बिचलित करने हेतु इन्हें इन्द्रलोक से भेजा जाता था। जो ब्यक्ति इनकी साधना कर लेता है, उसकी मानसिक शक्ति सुदृढ हो जाती है। सदेब बह ब्यक्ति उत्साह में रहता है। चन्द्रकला की साधना सिद्ध होने पर साधक के साथ यह मित्रबत या प्रेमिका रूप में भी रह सकती है।
 
इनकी साधना अत्यन्त शुभ है, इसमें अधिक बाधायें नहीं आती। चन्द्रकला अप्सरा को सिद्ध करने हेतु भयमुक्त होकर संकल्पपूर्बक प्रसन्नता से साधना करें। साधना के मध्य यदि साधक भयभीत हो जाये, तो यह प्रसन्न नहीं होती अर्थात् प्रत्यख्य नहीं होती। प्रकट होने पर यह साधक को प्रेमभाब से परिपूर्ण कर देती है। सुख, सम्पति और बैभब प्रदान करने बाली देबी चन्द्रकला हैं। इनकी साधना से चंन्द्र बलशाली होकर साधक का मनोबल बढा देता है।
 
इनकी साधना के लिए गुरू आज्ञा से गुरु मंत्र का १ माला जप करें। यह कार्य पूर्णिमा की रात्रि से एकांत स्थान में करें। सर्बप्रथम एक सफेद रंग का कपडा बिछायें, उसके ऊपर एक मनमोहक नारी का चित्र रखें। घी का दीपक जलाकर साधना का आरम्भ करें। यह साधना ५१ दिन की है, यह साधना लम्बी है, प्रतिदिन ३१ माला मंत्र जप करना है। इसके अतिरिक्त ५१०० मंत्रो का सफेद पुष्पों से दशांश हबन करना है। आसन पर भी शेवत बस्त्र धारण करके बैठें। साधना के दौरान ब्रह्माचर्य का पालन करें, तभी सिद्धि प्राप्त होगी। यदि साधना में पूर्ण सफलता न भी मिले तो आंशिक सफलता अबश्य मिलेगी, यह निशिचत है, इसका आभास साधक को स्वत: हो जाता है।
 
मंत्र : क्लीं चन्द्रकला क्लीं अप्सराय सिद्धि हुं फट् स्वाहा।।
 
प्रतिदिन मंत्र जाप के पशचात ध्यान अबश्य करें, जिससे साधना दृढ हो जाती है। इस साधना से मातृपख्य प्रबल होता है, यह एक सौम्य साधना है।
 
 
 

To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *