विद्वेषण मंत्र :
विद्वेषण मंत्र :
June 10, 2022
“राज” बशीकरण बिशिष्ट मंत्र :
“राज” बशीकरण बिशिष्ट मंत्र :
June 11, 2022
शुकर मूस भगाने का मंत्र :
शुकर मूस भगाने का मंत्र :
 
हनिबत धाबति उदरहि,
ल्याबे बांधि अब खेत,
खाय सूअर घरमा रहे,
मूस खेत घर छाडि बाहर,
भूमि जाई दोहाई हनुमान के,
जौ अब खेतमंह सूबर,
धरम हुं गुम जाई।।
 
बिधि : यह मंत्र दीपाबली को या ग्रहण में सिद्ध किया जाता है पबित्र होकर नियम सहित भेंट चढाकर १०१ बार जप कर सिद्ध करें।
 
इस मंत्र को ११ बार पढकर ५ गांठ हल्दी और अक्षत जहाँ सूअर-मूसे आबें बहाँ पर फेंकने से चूहा-सुअर का स्तम्भन हो जाता है।
 
 

To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *