बीर-भद्र साधना :
बीर-भद्र साधना :
July 7, 2022
रत्नेश यक्ष साधना :
रत्नेश यक्ष साधना :
July 7, 2022
मणिभद्र साधना :

मणिभद्र साधना :

मंत्र : ॐ नमो यक्ष मणिभद्र ॐ।।

बिधान : इस यक्ष की साधना निर्जन बटबृक्ष के नीचे पूर्णमासी से पूर्णमासी तक एक माह तक की जाती है। तैतीस माला जप नित्य किया जाता है। इसे सुगन्धित श्वेत पुष्प नित्य एक सौ आठ की मात्रा में देने चाहिए। अनुष्ठान पूर्ण हो जाने पर भी ग्यारह पुष्पों से नित्य प्रात: श्वेत मिठाई का भोग लगाकर नित्य पूजा करके एक माला जप करे। माला सभी में स्फटिक की प्रयोग की जाती है।

फल : मणिभद्र बहुत दयालु और समर्थ यक्ष है यह साधक की दरिद्रता दूर कर नित्य धनलाभ कराता है तथा सदैब ध्यान रखता है।

प्रभाब : इस यक्ष के प्रभाब से एक माह के अन्दर स्त्री/पत्नी गर्भ धारण करती है और पुत्र ही होता है किन्तु पूरे एक बर्ष तक नित्य उसी स्थान पर सायंकाल जाकर पूजा और एक माला जप करना पडता है ।

 

नोट : यदि आप की कोई समस्या है,आप समाधान चाहते हैं तो आप आचार्य प्रदीप कुमार से शीघ्र ही फोन नं : 9438741641{Call / Whatsapp} पर सम्पर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *