प्राक्रुत जैन ग्रन्थे कर्णपिशाचि साधना

कर्णपिशाचि साधना

प्राक्रुत जैन ग्रन्थे कर्णपिशाचि साधना : बैसे तो कर्णपिशाचि साधना के स्वतंत्र मंत्र हैं, परन्तु कर्णपिशाचि का आह्वान कहीं-कहीं इष्ट मंत्र ब ईष्ट देब की आन देकर, अर्थात् इष्ट मंत्र के साथ भी किया जाता है । इससे कर्णपिशाचि जल्दी आती है और किसी का नुकसान भी नहीं करती है ।   1) मंत्र : … Read more