सर्व दुःख दर्द विनाशक मन्त्र :

सर्व दुःख दर्द विनाशक मन्त्र :
सुख व दु:ख जीवन के दो रंग हैं। कभी सुख आता है तो कभी दु:ख। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके भाग्य में सिर्फ दु:ख ही दु:ख होता है। वे अपना जीवन परेशानी में ही बिताते हैं और हर बात के लिए अपने भाग्य को कोसते रहते हैं लेकिन वे यह नहीं जानते कि मंत्रों के माध्यम से दुर्भाग्य को भी सौभाग्य में बदला जा सकता है। जीवन के सभी कष्टों का निवारण करने वाले मंत्रों में से एक अचूक मंत्र इस प्रकार है-
मंत्र : ।।ॐ रां रां रां रां रां रां रां रां कष्टम स्वाहा।।
सर्व दुख विनाशक मंत्र शारीरिक व्याधि दुख तथा मानसिक आजार किसी भी व्यक्ति के पीछे थके हुए हो तो उस व्यक्ति ने हर रोज दो समय सुबह और शाम प्रस्तुत मंत्र का जाप 108 बार कीजिए जिससे कि सभी दुख दर्द शारीरिक व्याधि , मानसिक रोगों से मुक्ति मिल कर पूर्ण रहस्य सिता मिलेगी ।
जप विधि :
– प्रतिदिन सुबह उठकर नित्य कर्मों से निपट कर भगवान श्रीराम की पूजा करें।
– अब कुश के आसन पर बैठकर पूर्व दिशा की ओर मुख करके तुलसी की माला से इस मंत्र का जप करें। कम से कम एक माला जप अवश्य करें।
– एक समय, स्थान, माला व आसन होने से यह मंत्र शीघ्र ही शुभ फल देता है।
– कुछ ही समय में आप देखेंगे कि आपके जीवन में परिवर्तन आने लगा है और दुर्भाग्य, सौभाग्य में बदल रहा है।
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार : मो. 9438741641  {Call / Whatsapp}
जय माँ कामाख्या

Leave a Comment