जिन्न प्रकोप करने का मंत्र

जिन्न प्रकोप करने का मंत्र :

जिन्न प्रकोप करने का मंत्र : रह्मानी मंत्र : काल आये, कराल आये, अगिया मसान आये । मेरी पुकार पर भूत-प्रेत जिन्न बैताल आये । काल जाये, कराल जाये, अगिया मसान जाये । भूत जाये, प्रेत जाये, जिन्न (……) । जिन्न तू जिन्नात तू ।कर मेरा एक काम तू । दिखा अपनी शक्ति का जमाल … Read more

गुप्त काला कलबा बीर साधना क्या है?

काला कलबा बीर

गुप्त काला कलबा बीर साधना : काला कलबा बीर : ओम नमो आदेश गुरुजी को ओम गुरुजी । काला कलबा बीर, काली का लाडला । माता काली के संगे बिराजे। बीर कलुआ भरी मसाण में उपजे । आधी रात को जागे । जाग-जाग कलुबा देऊ मद-मांस को भोज प्रकट होबे तो दूं में बली बोकरो … Read more

दैत्य साधना की विधि :

दैत्य साधना

दैत्य साधना की विधि : दैत्य साधना : नाना प्रकार की देबयोनियों में से अपदेब योनियां भी हैं उनमें से दैत्य भी आते हैं जैसे राक्षस भी अपदेब हैं और असुर भी । इनकी साधना यद्दपि उग्रसाधना में आती है, परिणाम ठीक ही देते हैं । परिचय : दैत्यों में शायद ही कोई हो जो … Read more

चाण्डाल साधना विधि :

चाण्डाल साधना

चाण्डाल साधना विधि : चाण्डाल साधना : प्रेत साधना की कोटि में अत्यन्त उग्र और निकृष्ट किस्म के बहुत बलशाली किस्म का प्रेत चाण्डाल ही है जो धर्म अधर्म का बिचार किए बिना साधक के लिए सब कुछ कर गुजरता है । परिचय : चाण्डाल बे मानबीय जातियां है जो धर्महीन, धर्मभ्रष्ट, बर्णसंकर तथा अभिशप्त … Read more

राक्षस साधना क्या होती है ?

राक्षस साधना

राक्षस साधना क्या होती है ? राक्षस साधना : राक्षस भी एक प्रकार के उपदेबता होते हैं जो बहुत शक्तिशाली होते हैं और साधक के लिए कुछ भी करने को सदैब तत्पर रहते हैं किंतु इनका उपयोग अधर्म के काम में न करें । ये धर्मबान् होते हैं । परिचय : राक्षस एक धर्मरक्षक उपदेब … Read more

ब्रह्मराक्षस साधना विधि और मंत्र

ब्रह्मराक्षस साधना

ब्रह्मराक्षस साधना विधि और मंत्र : ब्रह्मराक्षस साधना संक्षेप में : हालांकि अब आजकाल ब्रह्मराक्षसों के निबास के स्थान प्राय: मैदानी क्षेत्रों में समाप्त प्राय: हैं । जंगली क्षेत्रों, पहाडों, घाटियों, नदी तटों और श्मशानों के समीप के पीपल के ब्रृक्ष पर ही अब ब्रह्मराक्षस पाए जाते हैं, बह भी बहुत कम मात्रा में। बडे … Read more

जिन सिद्धि साधना क्या होती है?

जिन साधना

जिन सिद्धि साधना : जिन साधना : जीबन की सफ़र में , हम सभी कुछ ना कुछ हासिल करने की चाहत रखते हैं , और यही कारण है की हम अपनी साधना की और बढ़ते हैं ।“जिन सिद्धि साधना “एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे हम अपने आपको आध्यत्मिक और शारीरिक रूप से संजीबन करने केलिए … Read more

शैतान चढाने हेतु मंत्र :

शैतान मंत्र

शैतान चढाने हेतु मंत्र : शैतान मंत्र : अल्प गुरु अल्प रहमान । “अमुक” की छाती ना चढे, तो माँ बहन की                सेज पे पग धरै। अली की दुहाई ,अली की दुहाई ,अली की दुहाई ।। शैतान मंत्र बिधि : इस मंत्र के अनुष्ठान हेतु शुक्रबार की रात्री को किसी निर्जन स्थान पर पिली … Read more

त्रिया बंगालन-भैंसासुर वीर साधना :

त्रिया बंगालन-भैंसासुर वीर साधना :

त्रिया बंगालन-भैंसासुर वीर साधना : त्रिया बंगालन जिनके दुहाई से कई सारी मशानी शक्तियां काम करती है और भैंसासुर वीर तो बहोत खतरनाक शक्ति है । भैंसासुर वीर को दिया हुआ कोई भी काम वह करता है,इनके लिए षट्कर्म तो बहोत मामूली काम है । यह मंत्र साधना षट्कर्म में पूर्ण सिद्धिदायक है,इसी साधना से … Read more