संकटा योगिनी साधना कैसे करें ?

संकटा योगिनी

संकटा योगिनी साधना कैसे करें ? योगिनियों का तंत्र में क्या महत्व ये तो सभी जानते है । अप्सरा और यक्षिणियों से भी ऊपर है योगिनिया, माँ का ही दूसरा स्वरुप माना जाता है इन्हे और यह सिद्धि दात्री भी मानी गयी है । इनकी साधनाए अत्यंत क्लिष्ट होती है, क्युकी योगिनिया पूर्ण समर्पण मांगती … Read more

जानिए चंड योगिनी साधना कैसे करें ?

चंड योगिनी साधना

जानिए चंड योगिनी साधना कैसे करें ? चंड योगिनी साधना : योगिनी शब्द से हम में से अधिकाश भय ग्रस्त से हो जाते हैं , पर ये तो , अनेको ने इनके बारे में जो भी सुना सुनाया लिख दिया , खुद का स्वानुभव कितनो का था , और जिनका स्वानुभव था , वह तो … Read more

महा चमत्कारी गो योगिनी साधना कैसे करें?

गो योगनी

महा चमत्कारी गो योगिनी साधना कैसे करें? ।। गो योगनी साधना मंत्र ।। “आगारी जो गुरु यागे जोगि गुरु दण्ड बतियां। करिया बलईयां , री जोगन मुख अनरिता। गायति रही रतियां। गो योगिनी चल इन अकेलियां। गो मारो हैं तालियां। गो योगिनी बांधऊ नजारियां। गो योगिनी आ पहिया। ना आये तो दुहाई मइया। बनिता की। … Read more

बिप्र चाण्डालिनि मंत्र

बिप्र चाण्डालिनि मंत्र :

बिप्र चाण्डालिनि मंत्र : बिप्र चाण्डालिनि मंत्र : “ॐ नम: श्चामुण्डे प्रचण्डे इन्द्राय ॐ नमो बिप्रचाण्डालिनि शोभिनि प्रकर्षिणि आकर्षय द्रब्य मानय प्रबल मानय हुं फट् स्वाहा।” बिधि : तंत्र के अनुसार इस मंत्र की सिद्धि ४१ दिन में होगी। प्रथम दिन भूखा रहे, धरती पर सोबे, मीठा भोजन करें और आधा भोजन उसी थाली में … Read more

कनकबती योगिनी साधना क्या है ?

कनकबती योगिनी साधना :

कनकबती योगिनी साधना क्या है ? कनकबती योगिनी साधना : प्रचण्ड बदना कनकबती देबी के होठ पके हुए बिम्बाफल के समान रक्त बर्ण है । बे लाल बस्त्रों को धारण करने बाली, बालास्वरूपिणी तथा समस्त मनोकामनाओ की पूर्ति करने बाली शुभ है । कनकबती योगिनी साधना का मंत्र यह है – “ॐ ह्रीं हुं रक्षकर्मणि … Read more

योगिनी साधना कैसे करें और उसके फायदे?

योगिनी साधना

योगिनी साधना कैसे करें और उसके फायदे? योगिनी साधना : योगिनियों की सिद्धि के बारे में केवल एक बात ही उनकी महत्ता दर्शाती है कि धनपति कुबेर उनकी कृपा से ही धनाधिपति हुए थे । इनको प्रसन्न करने से राज्य तक प्राप्त किया जा सकता है । ये भी मुख्यत: 8 होती हैं तथा मां, … Read more

सुरसुन्दरी योगिनी साधना कैसे करें ?

सुरसुन्दरी योगिनी साधना

सुरसुन्दरी योगिनी साधना कैसे करें ? सुरसुन्दरी योगिनी साधना :योगिनियों की उत्पति भगबती महाकाली के स्वेदकन्णों से मानी गई है । घोर नामक महादैत्य का बध करने के लिए भगबती महादेबी (गौरी) ने महाकाली का स्वरुप धारण किया था । उस समय दैत्यराज का बध करते समय भगबती महाकाली के शरीर से जो स्वेद बिंदु … Read more

रति सुन्दरी योगिनी साधना क्या है ?

रति सुन्दरी योगिनी

रति सुन्दरी योगिनी साधना क्या है ? रति सुन्दरी योगिनी : रतिसुन्दरी योगिनी स्वर्ण के समान बर्ण बाली गोरांगी, समस्त अलंकारों –नुपूर, बाजूबन्द, हार आदि से सुशोभित तथा कमल के समान सुन्दर नेत्रों बाली हैं । रति सुन्दरी योगिनी का साधन मंत्र यह है – “ॐ ह्रीं आगच्छ रतिसुन्दरी स्वाहा ।” उक्त प्रकार से ध्यान … Read more

मनोहरा योगिनी साधना क्या है ?

मनोहरा योगिनी साधना :

मनोहरा योगिनी साधना क्या है ? मनोहरा योगिनी साधना : भूत डामर तंत्र में कहा गया है कि योगिनियों के साधन की महाबिद्या परमगोपनीय तथा देबताओ को दुर्लभ है । योगिनियों की पूजा करके ही कुबेर ने ध्न्याधिप का पद प्राप्त किया है । इस प्रकार में प्रमुख अष्ट योगिनियों की साधन बिधि का बर्णन … Read more