कलियुग का अंत

Kaliyug ka Ant

Kaliyug ka Ant : Kaliyug ka Ant हो चूका है । शास्त्रीय धारा एबं मनुस्मृति के आधार पर चार युग का ही समय देखने को मिलता है । उन युगों के नाम है – पहला सत्ययुग, दूसरा त्रेतायुग, तीसरा द्वापरयुग और चौथा कलियुग । इन चार युगों के बाद एक गुप्तयुग भी आता है जिसको … Read more

सुलेमानी लाल परी साधना क्या है?

laal pari

Laal Pari : ये जीवन में आने वाली धन की कमी को दूर करती है और किसी ना किसी माद्यम से लोटरी अदि से आकस्मिक धन की प्राप्ति कराती है । इस से घर का महोल सुख मय हो जाता है । कई दोस्तों ने पूछा के पत्नी बहुत झगडालू है कलेश बना रहता है … Read more

संकटा योगिनी साधना कैसे करें ?

संकटा योगिनी

संकटा योगिनी साधना कैसे करें ? योगिनियों का तंत्र में क्या महत्व ये तो सभी जानते है । अप्सरा और यक्षिणियों से भी ऊपर है योगिनिया, माँ का ही दूसरा स्वरुप माना जाता है इन्हे और यह सिद्धि दात्री भी मानी गयी है । इनकी साधनाए अत्यंत क्लिष्ट होती है, क्युकी योगिनिया पूर्ण समर्पण मांगती … Read more

सुमुखी किन्नरी साधना कैसे करें ?

सुमुखी किन्नरी

सुमुखी किन्नरी साधना कैसे करें ? सुमुखी किन्नरी : गृहवाकाधिपति कुबेर के समक्ष क्रोधारण श्री महेश्वर ने जिस किन्नरी साधन को कहा था, उसका बर्णन इस प्रकरण में किया जाता है । इन किन्नरियों का साधन त्रिभुबन बिजयी हो सकता है । साधन बिधि निम्नानुसार है – मंत्र : “ॐ सुमुखि स्वाहा ।” साधन बिधि … Read more

बिशाल नेत्रा किन्नरी साधना मंत्र

बिशाल नेत्रा किन्नरी

बिशाल नेत्रा किन्नरी साधना मंत्र : बिशाल नेत्रा किन्नरी मंत्र : “ॐ बिशाल नेत्रे स्वाहा ।” साधन बिधि – साधक को चाहिये की बह रात्रिकाल में किसी नदी के संगम स्थल पर जाकर उक्त मंत्र का दस सहस्र संख्या में जप करे तथा किन्नरी का बिधिबत् पूजन करें । जप के अन्त से पहले दिन … Read more

दिबाकर मुखी किन्नरी साधना मंत्र

दिबाकर मुखी किन्नरी

दिबाकर मुखी किन्नरी साधना मंत्र : दिबाकर मुखी किन्नरी मंत्र : “ॐ दिबाकरमुखी स्वाहा ।” साधन बिधि – साधक को चाहिये की बह अर्द्धरात्रि के समय किसी पर्बत के शिखर पर बैठ कर उक्त मंत्र का दस सहस्र की संख्या में जप करे । तदुपरान्त ‘दिबाकर मुखी’ किन्नरी का सही बिधि बिधान से पूजन कर, … Read more

जानिए चंड योगिनी साधना कैसे करें ?

चंड योगिनी साधना

जानिए चंड योगिनी साधना कैसे करें ? चंड योगिनी साधना : योगिनी शब्द से हम में से अधिकाश भय ग्रस्त से हो जाते हैं , पर ये तो , अनेको ने इनके बारे में जो भी सुना सुनाया लिख दिया , खुद का स्वानुभव कितनो का था , और जिनका स्वानुभव था , वह तो … Read more

मंजूघोषा किन्नरी साधना क्या है?

मंजूघोषा किन्नरी साधना :

मंजूघोषा किन्नरी साधना क्या है ? मंजूघोषा किन्नरी : यह किन्नरी कुबेर की सेबा में उपस्थित रहने बाली प्रमुख किन्नरियों में से एक है । मंजूघोषा किन्नरी सिद्ध होने के पश्चात् पत्नि या प्रेमिका के रूप में दर्शन देती है । यह साधक से गोपनीतया हेतु कुछ बचन लेती है और समय-समय पर साधक को … Read more

सुलोचना किन्नरी साधना कैसे करें ?

सुलोचना किन्नरी साधना :

सुलोचना किन्नरी साधना कैसे करें ? सुलोचना किन्नरी : यह किन्नरी साधक हेतु कार्य सिद्धि, धन प्राप्ति, संकट मोचन ब शत्रुनाश का उपाय देती है । सिद्ध होने के पश्चात् सुलोचना सारे संकट स्वयं झेलकर साधक को पूर्ण सुरख्या प्रदान करती है । नाम के अनुरूप ही इसके नेत्र अत्यन्त सुन्दर है । साधक को … Read more