बिप्र चाण्डालिनि मंत्र

बिप्र चाण्डालिनि मंत्र :

बिप्र चाण्डालिनि मंत्र : बिप्र चाण्डालिनि मंत्र : “ॐ नम: श्चामुण्डे प्रचण्डे इन्द्राय ॐ नमो बिप्रचाण्डालिनि शोभिनि प्रकर्षिणि आकर्षय द्रब्य मानय प्रबल मानय हुं फट् स्वाहा।” बिधि : तंत्र के अनुसार इस मंत्र की सिद्धि ४१ दिन में होगी। प्रथम दिन भूखा रहे, धरती पर सोबे, मीठा भोजन करें और आधा भोजन उसी थाली में … Read more

दुर्भाग्य नाशक लक्ष्मी शाबर मंत्र

Lakshmi Shabar Mantras

Durbhaagya Naashak Lakshmi Shabar Mantras : (A) .“ॐ विष्णु-प्रिया लक्ष्मी, शिव-प्रिया सती से प्रकट हुई। कामाक्षा भगवती आदि-शक्ति, युगल मूर्ति अपार, दोनों की प्रीति अमर, जाने संसार। दुहाई कामाक्षा की। आय बढ़ा व्यय घटा। दया कर माई । ॐ नमः विष्णु-प्रियाय। ॐ नमः शिव-प्रियाय। ॐ नमः कामाक्षाय। ह्रीं ह्रीं श्रीं श्रीं फट् स्वाहा।” Lakshmi Shabar … Read more

सिद्ध प्राचीन अघोर तंत्र सिद्धि

अघोर तंत्र सिद्धि

।। सिद्ध प्राचीन अघोर तंत्र सिद्धि ।। ।। अघोर तंत्र सिद्धि मंत्र ।। ॐ नमो भगबत्यै श्मशान बासिन्यै। भूतनाथाय रुद्ररुपाय बीर बाबन अधिपते। जोगी जति ध्याबे। महा घोर रुद्रो अघोरा मम साधय साधय हूँ फट्। ।। अघोर तंत्र सिद्धि बिशेष ।। यह साधना को गंगा किनारे स्थित श्मशान घाट पर की जाती है । यह … Read more

नीलपताका देवी मंत्र प्रयोग :

नीलपताका

नीलपताका देवी मंत्र : नीलपताका देबी रण में बिजय दिलाती है। मंत्र :”ह्रीं सकलहक्रीं ॐ झं नीलपताके हुं फट्।”   महातारा ही कराला है । भाद्रमास में अमाबस मंगलबार पुनर्बसु, पुष्य, पूर्बाफालगुनी नक्षत्र हो उस दिन साधक बिष्णुक्रान्ता (अपराजिता) को श्मशान में ले जाकर शोधन करे । बाजार से मछली लाकर उसके मुंह में भांग … Read more

रोग मुक्ति के लिए मंत्र :

रोग मुक्ति के लिए मंत्र :

रोग मुक्ति के लिए मंत्र : रोग मुक्ति मंत्र : जै जै गुणबन्ती बीर हनुमान, रोग मिटे और खिले खिलाब, कारज पूरण करे पबन सुत, जो न करे मां अंजनी की दुहाई, श्वद सांचा पिण्ड काचा, फुरो मंत्र ईश्वरो बाचा।।   बिधि : यदि आपको किसी रोग के बारे में पता करना है या डाक्टर, … Read more

अग्नि बैताल सिद्धि हेतु मंत्र की साधना कैसे करें ?

अग्नि बैताल

अग्नि बैताल सिद्धि हेतु मंत्र की साधना : अग्नि बैताल मंत्र : ॐ नमो अगिया बीर बैताल। पैठि सातबें पाताल, लांघ अग्नि की जलती झाल। बैठि ब्रह्मा के कपाल । मछली, चील, कागली, गूगल, हरिताल। इन बस्तां को लै चलि, न लै चलै तो माता कालिका की आन। । अग्नि बैताल सिद्धि मंत्र बिधि : … Read more

कार्य सिद्धि हेतु दरिया देब का मंत्र :

कार्य सिद्धि मंत्र

कार्य सिद्धि हेतु दरिया देब का मंत्र : ॐ पहले नाम भगबान का, दूजे नाम औतार का। तीजे नाम सत् गुरू, जिनका नाम स्वामी जी। उनकी कृपा और उनकी दया इस ख्वाजा खिदर पूजने के लिए परसाद लेकर आया। लोना चमारी की दुहाई। बैष्णों शाकुम्भरा और औतार, पीर और पैगम्बर इन सबकी दया के साथ, … Read more

काराबास मुक्ति हेतु मंत्र :

काराबास मुक्ति मंत्र

काराबास मुक्ति मंत्र : सम्पूर्ण “हनुमान चालीसा” का पाठ करे या निम्न लिखित मंत्र का जप करें । काराबास मुक्ति मंत्र : ॐ हं हनुमते नम: ।। बिधि : साधक श्री बजरंग बली नियमक सभी बातें ध्यान में रख कर हनुमान चालीसा का पाठ करें । एक हनुमान चालीसा पाठ का बिकल्प कर इस मंत्र … Read more

मृतबत्सा दोष नाशक मंत्र :

मृतबत्सा दोष नाशक मंत्र

मृतबत्सा दोष नाशक मंत्र : छोटी मोटी खप्पर, तुं धरती कितना गुण । जियके बल काट कूजान –बिज्ञान दाहिनी और हनुमान रहे ,बांयी और चील ।चहूँ और रक्षा – करे बीर बानर नील । नील बानर की भक्ति लखि न जाय । जेहि कृपा मृतबत्सा दोष न आय । आदेश कामरू कामख्या माई का । … Read more