कर्णपिशाचिनी प्रयोग बिधि

कर्णपिशाचिनी प्रयोग

कर्णपिशाचिनी प्रयोग बिधि : 1) मंन्त्रमहोदधौ- ओम ह्रीं कर्णपिशाचिनी कर्णे मे कथय स्वाहा। इति षोडशाख्यरो मंत्र: । श्मशान ब शब के पास अशुचि होकर साधना करें ।   2) मंत्र : ओम ऐं ह्रीं ऐं क्लीं क्लीं ग्लौं ओम नम: कर्णाग्रौ कर्णपिशाचिका देबि अतीतानागत बर्तमानबार्ता कथय मम कर्णे कथय कथय तथयं मुद्राबार्ता कथय कथय आगछागछ … Read more