India's Best Vedic Astrologer
India’s Best Vedic Astrologer
April 13, 2024
पंच मकार से मोक्ष प्राप्ति का मार्ग है : अघोर
पंच मकार से मोक्ष प्राप्ति का मार्ग है : अघोर
April 14, 2024
अघोरी वीर साधना :

अघोरी वीर साधना : (कमजोर दिल वाले करने की सोचे भी नहीं)

कई बार मनुष्य भुत प्रेत आदि के चंगुल में फस जाता है और लाख कोशिश करने पर भी उन्हें इस मुसीबत से छुटकारा नहीं मिलता । कुछ भुत प्रेत विद्याधरी होते है और यदि हम मंत्र पढ़ते है तो हमारे मंत्र के उत्तर में वह भी मंत्र पढ़ देते है और हमारा मंत्र निष्फल हो जाता है । इस साधना को करने के बाद व्यक्ति भुत प्रेत आदि समस्या का निपटारा बड़ी आसानी से कर सकता है । इसके साथ ही उसे एक विशेष सिद्धि मिल जाती है, जिसके माध्यम से व्यक्ति अपने और अन्य लोगों के रुके हुए काम भी करवा सकता है । इस सिद्धि के माध्यम से वह निसंतान को संतान दे सकता है, विदेश यात्रा जैसे कार्य करवा सकता है और जरुरत पड़ने पर वशीकरण, उच्चाटन आदि कर्म भी कर सकता है ।
इस मंत्र सिद्धि के अनेकों प्रयोग है जो शब्दों के माध्यम से व्यक्त नहीं किये जा सकते है । यह कहना गलत न होगा कि इस साधना के बाद व्यक्ति एक सिद्ध पुरुष बन जाता है । यह साधना एक शमशान साधना है इसलिए इस साधना को सोच विचारकर गुरु-आज्ञा से ही करे ।
।। अघोरी वीर साधना मंत्र ।।
” ऊगत तारे , भये भुनसारे
यहाँ अघोरी आन विराजे ,
लकड़ी जरे , मुर्दा चिल्लाये ,
तहाँ अघोरी वीर किरकिराए । ।
मेरी भक्ति , गुरु की शक्ति,
देख देख रे अघोरी,तेरे आखिरी मंत्र की दुहाई ”
।। विधि ।।
शमशान में जाते समय अपने साथ एक लोहे का चिमटा ले जाए । सर्वप्रथम शमशान में जाकर दक्षिण दिशा की तरफ मुह करके लोहे के चिमटे को प्रणाम करे और भगवान् शिव का स्मरण कर रक्षा मंत्र द्वारा एक बड़ा गोल खीच ले । फिर उस गोले में आसन बिछाये और आसन जाप पढ़ कर किलन मंत्र जपे , अपने साथ बकरे की कलेगी और एक शराब की बोतल ले जाएँ । इन दोनों वस्तुऒ को अपने सामने रख कर गुरुदेव को प्रणाम करे और मंत्र जप की आज्ञा ले । फिर भगवान् गणेश से मानसिक रूप से आज्ञा ले और उसके बाद भगवान् शिव के किसी भी मंत्र का जप करे और इस साधना में सफलता के लिए प्रार्थना करे । उसके बाद एक माला गुरु मंत्र की जपे और फिर इस मंत्र की 5 माला जप करे । मंत्र जप के बाद एक माला पुनः गुरु मंत्र की जपे । यह अघोरी वीर साधना क्रिया आपको 21 दिन करनी है ।
 
इस अघोरी वीर साधना के दौरान आपको कुछ डरावने अनुभव हो सकते है, परन्तु किसी भी हालत में रक्षा घेरे से बाहर ना आये । गोले से बाहर आने पर आप पागल हो सकते है या फिर प्राणों पर संकट भी आ सकता है ।
|| अघोरी वीर साधना प्रयोग विधि ||
जब भी कोई कार्य करवाना हो तो इसी प्रकार शमशान में जाकर मांस और शराब अघोरी बाबा को एक माला मंत्र जप कर चढ़ा दे और अपना कार्य बोल दे । १०१ % आपका कार्य सिद्ध होगा ।
नोट – यह अघोरी वीर साधना बड़ी ही उग्र है । इस साधना को सोच विचार कर गुरु आज्ञा से ही करे ।

सम्पर्क करे (मो.) 9937207157/ 9438741641  {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *