कुण्डली के अशुभ योगों की शांति कैसे करें ?
कुण्डली के अशुभ योगों की शांति कैसे करें ?
May 3, 2024
gomati chakra
गोमती चक्रों के अद्भुत तांत्रिक प्रयोग
May 3, 2024
1. नौ इंच लंबा गरूड़ वृक्ष की लकड़ी लेकर उसे नौ बराबर हिस्सों में काट लें । अब उसे नौ शूकरदंतों के साथ घर के अलग-अलग हिस्सों में ठोक दें । ऐसा करने से घर से ऊपरी बाधा, भूत-प्रेतों की समस्या दूर हो जाएगी ।
2. भूत-प्रेत से पीड़ित व्यक्ति के लिए अभिमंत्रित शूकर दंत लेकर उस व्यक्ति के पुराने कपड़े में लपेटकर नदी में प्रवाहित कर दें ।
3. सोने से बनी लाॅकेट में शूकर दंत डालकर नवजात शिशु को पहना दें । उसको नजर नहीं लगेगी ।
4. अभिमंत्रित शूकर दंत घर में रखने मात्र से परिवार की सभी समस्या समाप्त हो जाती है । मात्र घर में स्थापित कर देने से आर्थिक लाभ होता है, पुराने कर्जों से मुक्ति मिल जाती हैं । परिवार में सुख शांति रहती है । पति पत्नी में अनबन दूर हो जाते हैं । यदि परिवार को कोई सदस्य खो गया हो तो वह मिल जाता है ।
5. यदि कारोबार अचानक मंदा हो जाए, बिक्री गिर जाए अथवा किसी के द्वारा बांध दिये जाने की आशंका हो तो अपनी दुकान अथवा कार्य स्थल की दीवार पर शूकर दंत इस प्रकार मढ़वाकर टांग दें कि वह आपको और बाहर से आने वालों को पहली ही नज़र में दिख जाए ।
6. सुनवाई के समय जेब में अभिमंत्रित शूकर दंत रखने से अदालती मामलों में जीत होती है । यदि गलत गवाही के कारण जेल हो गई हो तो उससे भी मुक्ति मिल जाती है अथवा सरलता से उसे बेल मिल सकती है ।
7. रोगी को शूकर दंत का ताबीज पहना देने से पुरानी बीमारी से निजात मिलती है चाहे वह कैसी भी हो ।
8. साक्षतकार हेतु जाते समय जेब में अभिमंत्रित शूकर दंत रख लें । इससे बेरोजगारों को नौकरी मिल जाती है तथा जो नौकरी में उन्हें पदोन्नति प्राप्त होती है ।
9. इसका ताबीज धारण करने से अविवाहितों को मनोवांछित विवाह प्रस्ताव प्राप्त होता है । यदि प्रेम संबंध टूट गया हो तो फिर से जुड़ जाती है ।
10. यदि चारो ओर से शत्रुओं से घिर गए हो तो शूकर दंत की ताबीज धारण करें, इससे शत्रुओं का नाश होता है ।
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार (मो.) 9438741641 /9937207157 {Call / Whatsapp}
जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *