जानिए गुलाब फूल का 10 रोचक टोटके :
जानिए गुलाब फूल का 10 रोचक टोटके :
March 12, 2024
चनोंठी वशीकरण मंत्र {{मरते दम तक कभी अलग नहीं होगा}}
चनोंठी वशीकरण मंत्र क्या है?
March 13, 2024
जादू-टोना तंत्र से बचने के रामबाण ईलाज !!!

जादू-टोना तंत्र से बचने के रामबाण ईलाज :

जादू-टोना तंत्र : काले जादू-टोना तंत्र के माध्यम से व्यक्ति किसी भी हद्द तक जाकर अपनी मनोकामना की पूर्ति एवम अपने स्वार्थ को सिद्ध करने का प्रयत्न करता है या किसी को नुकसान पहुंचाने का कार्य करता है । बंगाल और असम को काला जादू-टोना तंत्र का गढ़ माना जाता रहा है । काले जादू-टोना तंत्र के माध्यम से किसी को बकरी बनाकर कैद कर लिया जाता है या फिर किसी को वश में कर उससे मनचाहा कार्य कराया जा सकता है । काले जादू-टोना तंत्र के माध्यम से किसी को किसी भी प्रकार के भ्रम में डाला जा सकता है और किसी को मारा भी जा सकता है ।
काला जादू-टोना तंत्र शरीर में नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करता है । ये शक्तियां बाहरी व्यक्ति के द्वारा भेजी जाती हैं जो उस व्यक्ति पर आतंरिक प्रभाव डालती है । दरअसल काला जादू-टोना तंत्र मनोवैज्ञानिक ढंग से कार्य करता है । काला जादू करने वाले आपके अचेतन मन को पकड़ लेते हैं । इसका प्रभाव आपके मन पर होता है । काले जादू-टोना तंत्र के अंतर्गत मूठकर्णी विद्या, वशीकरण, स्तंभन, मारण, भूत-प्रेत, टोने और टोटके आदि आते हैं । अधिकतर इसे तांत्रिक विद्या भी कहते हैं ।
इसके अलाव बहुत से ऐसे पारंपरिक अंधविश्वास और टोटके हैं जो अंधविश्वास हैं, जो लोक परंपरा से आते हैं जिनके पीछे कोई ठोस आधार नहीं होता। ये शोध का विषय भी हो सकते हैं । इसमें से बहुत-सी ऐसी बातें हैं, जो धर्म का हिस्सा हैं और बहुत-सी बातें नहीं हैं ।
नकारात्मक दिमाग वाले लोग काले जादू-टोना तंत्र का स्तेमाल इसलिए करते हैं ताकि जल्द से जल्द अपनी इच्छाओं को पूरा कर सकें तंत्र शास्त्र में काले जादू-टोना तंत्र टोटके वशीकरण सम्मोहन मारण आदि शब्द भी आते है जो नकारात्मक शक्तियों के परिणामो के घोतक है ।
यह जिस व्यक्ति पर लागू किया जाता है उसकी मानसिक अवस्था बिगर जाती है और अजीबो गरीब हरकते करने लगता है । जादू-टोना तंत्र विद्या में मार और सम्हाल दोनो उपलब्ध है । अर्थात इसमें तांत्रिक क्रियाओं से बचाव हेतु उसका काट भी मौजूद है । ये एक घातक हथियार है जो न केवल जिसपर प्रयोग किया जाता है उसको नष्ट करता है बल्कि जो इसका प्रयोग करता है उसको भी नष्ट करता है ।

जादू-टोना तंत्र के लक्षण :

पहले तो यह अच्छे से जान ले की जिस व्यक्ति पर आपको संदेह है , कही वो किसी बीमारी से ग्रसित तो नही है । फिर जांचे की उस व्यक्ति की कुण्डली में कोई ग्रह अशुभ फल तो नही दे रहा । यदि कुण्डली और चिकित्सक जांच सही आये और व्यक्ति की हालत में कोई सुधार ना हो तब हो सकता है की किसी ने उसके ऊपर जादू-टोना तंत्र मंत्र किया हो ।
आइये जानते है की जादू-टोना तंत्र होने पर व्यक्ति के लक्षण कैसे हो जाते है ।
1. पीड़ित व्यक्ति का स्वयं पर नियंत्रण नहीं रहता । वो स्वयं को और दुसरे को शारीरिक मानसिक नुकसान पहुंचा सकता है ।
2. व्यक्ति के शरीर के हिसाब से उसमे अधिक बल आ जाता है ।
3. उसके नेत्रों में जलन, बार बार पेशाब आना और उदासीन और गुमसुम रहना शुरू कर देता है ।
4. पीड़ित व्यक्ति गुस्से वाला, चिडचिडा हो जाता है ।
5. चेहरा कांतिहीन तथा पीला हो जाता है पर भूख ज्यादा लगती है ।
ये बहुत ही दुर्भाग्य की बात है की अज्ञानता और धीरज की कमी के कारण आज लोग शैतानी शक्तियों के स्तेमाल करने से भी नहीं चूकते हैं ऐसे बहुत से केस आते रहते हैं जिनमें काले जादू-टोना तंत्र के कारण लोग विभिन्न प्रकार के फल को भोगते हैं जैसे की-
1. सारे गुण होने के बावजूद भी रोजगार न मिलना ।
2. अच्छा कार्य करने पर भी तरक्की मिलना और ऊपर से अफसरों से सुनना ।
3. आय के स्त्रोत का अकस्मात् बंद हो जाना ।
4. शक्ति होने के बावजूद भी घर में बैठे रहना, काम नहीं करना ।
5. दिन भर सोते रहना ।
6. रोज बुरे सपने आना ।
7. व्यापार में अकस्मात् हानि होना शुरू हो जाना और कारणो का पता नहीं चलना ।
वक्तिगत जीवन पर भी काले जादू-टोना तंत्र से बहुत प्रभाव पड़ता है जैसे की –
8. वैवाहिक जीवन का नष्ट हो जाना, सब कुछ ठीक चलते चलते अचानक से रिश्तों में खटास आ जाना ।
9. प्रेम संबंधों में विच्छेद हो जाना बिना किसी कारण के ।
10. बिना किसी कारण के तलाक की नौबत आना ।
11. रोज गली गलोच मरना पीटना आदि भी दिखाई पड़ते हैं ।
12. अचानक कोई गंभीर रोग होना और इलाज करने पर भी असर न होना ।
13. दुर्घटनाये होना और बड़े किसी हानि का होना ।
इसके अलावा भी कुछ विचित्र बातें सामने आई है जैसे की –
1. कहीं पर भी आग लग जाना और नुक्सान होना ।
2. घर पर से चीजों का गायब हो जाना ।
3. पुरे घर में एक भय का वातावरण का निर्माण हो जाना ।
4. खून की उल्टियाँ होना और मृत्यु नजर आना ।
5. गंभीर बिमारी से ग्रस्त हो जाना और सब तरफ नकरात्मक वातावरण का निर्माण होना ।
6. कहीं भी राह नजर न आना आदि ।
जादू-टोना तंत्र से बचाव के उपाय :-
जैसा मैंने ऊपर बताया की काला जादू-टोना तंत्र एक बहुत ही भयानक विद्या है और इसके परिणाम किसी भी हालत में ठीक नहीं होते हैं अतः इससे बचाव जरुरी है । अगर आप एक सुखी समपन्न परिवार में है , अच्छा व्यापार चलाते हैं या फिर काले जादू-टोना तंत्र से ग्रस्त हैं तो आपको अपने सुरक्षा के उपाय करने चाहिए । यहाँ में कुछ सलाह दे रहा हूँ जिसे अपना कर आप जीवन को सुगमता से जी सकते हैं –
1. एक सिद्ध महाकाली यन्त्र अपने घर में स्थापित करे और रोज दीपक और धुप देते रहे ।
2. अगर परिणाम ज्यादा गंभीर हो तो पुरे घर को सुरक्षा कवच से बांधा जाता है ।
3. घर के सदस्यों को सुरक्षित करने के लिए उन्हें महाकाली कवच या हनुमान कवच जो की सिद्ध हो उसे पहनाया जाए ।
4. अमवस्या को सफाई करके उतरा जरुर करना चाहिए और गूगल की धुप देना चाहिए ।
5. अगर बिमारी नहीं जा रही हो तो अभिमंत्रित जल पिला कर के रोग निवारण कवच पहनना चाहिए ।
6. कुछ गंभीर स्थितियों में विशेष पूजा की जरुरत होती है जिसके लिए पूरी जांच करने के बाद ही निवारण बताया जा सकता है जिसके लिए संपर्क कर सकते हैं ।
जादू-टोना तंत्र दूर करने के उपाय :-
1. गुगल में जावित्री, गायत्री और केसर के चुर्ण को मिलाकर २१ दिन तक लगातार सुबह शाम धूप दें अपने घर में ।
2. गोमती चक्र ले लें चार की संख्या में । अब इसे पीड़ित मनुष्य के ऊपर से वार कर फेंक दे चारों दिशाओं में । यह आप बुधवार, जो शुक्ल पक्ष में पड़ता है उस दिन करें ।
3. कपूर, पीली सरसों, गाय का घी तथा गूगल को मिलाकर धूप बनाए । आप प्रतिदिन इसे संध्या समय गोबर (गाय के) के द्वारा बनाए गए गोएठें (उपलों) के साथ जला कर धूप दें | इस क्रिया को लगाकर २१ दिन तक करें घर के हर हिस्से में ।
4. प्रतिदिन पूरे घर में गौमूत्र का छिड़काव करें ।
5. प्रतिदिन एक सुपारी (साबुत) अर्पण करें गणेश जी को ।
6. हर रोज किसी दरिद्र नारायण को एक कटोरी भर कर अन्न का दान करें ।
7. लहसुन का रस और हींग मिला ले । अब इसे सुंघा दें पीड़ित को ।
8. जड़ ले लें काले धतूरे की । किसी भी रविवार के दिन उसका ताबीज बनाकर पहना दे पीड़ित व्यक्ति को ।
9. गोरोचन और तगर को एक नए लाल रंग के कपड़े में बांधकर रख दे अपने पूजा स्थान में ।
10.पौधा लगाएं तुलसी का अपने घर में ।
11.पाँच बूंद शहद की मिला ले गाय के कच्चे दूध(आधा लीटर) में संध्या के वक्त । अब इसका छिड़काव करे घर के प्रत्येक स्थान पर । मुख्य द्वार तक पहुंच कर बाकी सारा दूध को वहीं पर गिरा दें ।
12.प्रतिदिन पीड़ित व्यक्ति को पाठ करना चाहिए हनुमान चालीसा का । इसके साथ ही साथ गायत्री मंत्र का ११ बार जप करना चाहिये ।
13.कोयला सवा किलो को एक किलोग्राम साबुत उड़द के साथ मिलाकर काले रंग के सवा मीटर कपड़े में बांध लें । अब इसे पीड़ित व्यक्ति के ऊपर से वार कर जल में प्रवाहित कर दें ।
किया कराया जादू-टोना तंत्र कैसे दूर करें ……….
14.एक चांदी की कटोरी में लौंग और कपूर एक साथ डालकर पूजा स्थान में जला दें प्रतिदिन रात को सोने से पहले ।
15.पौधा धतूरे का जड़ सहित उखाड़ लें पुष्य नक्षत्र में । अब इसे जमीन में इस कुछ इस तरह दबा दें कि पूरा पौधा जमीन के अंदर चला जाए और उपर रह जाए केवल जड़ वाला भाग इस टोटके को अपनाने से घर में सुख शांति का अनुभव होता है ।
16.शनिवार या मंगलवार के दिन पाठ करें बजरंग बाण का ।
17.सदा हनुमान जी का ध्यान करें व सुंदरकांड का पाठ करें शनि मंगल के दिन ।
18.शनि तथा मंगलवार के दिन श्रंगार करें हनुमान जी का और उन्हें चोला चढ़ाएं ।
19.्रतिदिन पवित्र होकर सुबह शाम दो-दो अगरबत्ती महाकाली के लिए जलाएं और उनसे अपने शरीर और घर की रक्षा के लिए प्रार्थना करें ।
20.अपने घर के मंदिर में सात पत्ते रखे अशोक वृक्ष के । उनकी पूजा करें और सूख जाने पर इन पत्तों के स्थान पर नए पत्तों को स्थान दें तथा पुराने पत्तों को रख दें .
21.केसर, गायत्री तथा जावित्री को कूटकर चूर्ण बना लें तथा उसमें गुग्गल मिश्रित कर प्रातः काल तथा संध्या काल निरंतर 21 दिनों तक घर में धूप दें।
22.चार गोमती चक्र लेकर शुक्ल पक्ष के बुधवार को पीड़ित व्यक्ति के ऊपर उतारकर चारो दिशा में फेंक दें ।
23.घर में हनुमान चालीसा की चमत्कारी चौपाइयो का सुबह और शाम पीड़ित के सामने पाठ करे ।
24.नियमित रूप से अपने घर में गौ मूत्र और गंगा जल छिड़कैं ।
25.घर के बगीचे में आक तथा तुलसी का पौधा लगाएं ।
26.नित्य गणेश जी को एक साबुत सुपारी अर्पित करें तथा गरीब को कटोरी भर अन्न दान करें ।
27.रविवार के दिन काले धतूरे की जड़ ले और उसका ताबीज बनाकर पीड़ित व्यक्ति को पहनाये ।
28.लहसून के रस में हींग मिलाकर पीड़ित को सुंघा दें ।
29.पीड़ित व्यक्ति को नारायण कवच का पाठ कराये ।
30.गाय के घी, पीली सरसो, कपूर तथा गुग्गल का धूप बनाकर सूर्यास्त के समय गाय के गोबर से बने उपलों की सहायता से जलाएं। यह धुनी 21 दिनों तक घर में दे ।

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *