जाने अपनी लग्न के अनुसार भाग्योदय का रहस्य
जाने अपनी लग्न के अनुसार भाग्योदय का रहस्य :
February 24, 2024
उच्च शिक्षा में बाधा
जन्मकुंडली में उच्च शिक्षा में बाधा और ज्योतिषीय परामर्श
February 26, 2024
त्रिग्रही योग

जानिए त्रिग्रही योग क्या है ?

त्रिग्रही योग : कुंडली में ग्रहों की युति होने पर ग्रहों के शुभ-अशुभ प्रभाव कम या ज्यादा हो सकते हैं । कुछ लोगों की कुंडली में तीन ग्रहों की युति (त्रिग्रही योग) होती है । तीन ग्रहों की युति का व्यक्ति के जीवन पर कैसा असर होता है । यहां जानिए त्रिग्रही योग के बारे में ….
1. यदि कुंडली में सूर्य, चंद्र और बुध एक साथ हैं तो ये त्रिग्रही योग माता-पिता के लिए अशुभ होता है । व्यक्ति मनोवैज्ञानिक या सरकारी अधिकारी होता है । अशांति और मानसिक तनाव का सामना करता है।
2. सूर्य, चंद्र और केतु एक साथ होते हैं तो रोजगार के लिए परेशानी होती है । न दिन को चैन, न रात को आराम, ऐसी हालत हो सकती है । व्यक्ति धनवान हो भी जाए तो भी शांति नहीं मिलती है ।
3. सूर्य, शुक्र और शनि की युति होने पर पति-पत्नी में वाद-विवाद और अशांति हो सकती है । नौकरी में भी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है ।
4. सूर्य, बुध और राहु की युति होने पर सरकारी नौकरी मिल सकती है । नौकरी में परेशानियों का सामना करना पड़ता है । दो विवाह होने के योग बनते हैं । संतान के लिए भी परेशानियों हो सकती हैं ।
5. चंद्र, शुक्र और बुध एक साथ होते हैं तो व्यक्ति सरकारी अधिकारी या कर्मचारी हो सकता है । घर में अशांति रहती है। व्यापार के लिए अशुभ योग है । संतान के संबंध में भी परेशानियां रहती हैं ।
6. चंद्र, मंगल और बुध एक साथ होते हैं तो मन, साहस, बुद्धि का सामंजस्य अच्छा रहता है । स्वास्थ्य ठीक रहता है। व्यक्ति नीतिवान और साहसी होता है । यदि इस युति पर पाप ग्रह की दृष्टि हो तो व्यक्ति डरपोक और ख्याली पुलाव पकाने वाला होता है ।
7.चंद्र, मंगल और शनि एक साथ होते हैं तो नजर कमजोर रहती है । बीमारी का भय रहता है । व्यक्ति डॉक्टर, वैज्ञानिक या इंजीनियर हो सकता है । मानसिक तनाव बना रहता है। ब्लड प्रेशर कम या ज्यादा रहता है ।
8.चंद्र, मंगल और राहु एक साथ होते हैं तो ये योग पिता के लिए अशुभ होता । चंचलता बनी रहती है । माता तथा भाई के लिए सामान्य योग है ।
9. चंद्र, बुध और शनि की युति हो तो व्यक्ति को मानसिक परेशानियों हो सकती हैं । बुद्धि से संबंधित कामों में नुकसान हो सकता है। अशांति बनी रहती है ।
10. चंद्र, बुध और राहु एक साथ होने पर ये योग माता-पिता के लिए अशुभ होता है। दुर्घटना की आशंका बनती है ।

To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार : 9438741641 (call/ whatsapp)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *