हनुमान जी के दर्शन हेतु शाबर मंत्र :
हनुमान जी के दर्शन हेतु शाबर मंत्र :
March 28, 2024
धन व्यय या हानि सम्बन्धी स्वप्न विचार
धन व्यय या हानि सम्बन्धी स्वप्न विचार
March 29, 2024
धनलाभ और सुख का संकेत

कौन से सपने धनलाभ और सुख का संकेत देते हैं ?

धनलाभ और सुख का संकेत : बहुत से सपने अत्यंत ही शुभ संकेत देते हैं , वे आने वाले समय में धनलाभ और सुख का संकेत के बढ़ने की ओर इशारा करते हैं । आइये देखते हैं कौन से ऐसे सपने हैं जो आपके लिए शुभ संकेत लेकर आते हैं –

धनलाभ और सुख का संकेत देने बाली स्वप्न फल :

1 कुंए का पानी देखना—– विविध धनलाभ और सुख का संकेत, विजय प्राप्ति
2 धूप देखना ——-धनलाभ और सुख का संकेत
3 आकाश में बादल देखना ——-राज्य से लाभ
4 एक अंगूठी पहनना——- धनलाभ और सुख का संकेत एवं प्रसन्नता
5 वर्षा पूरे नगर में देखना—— सुखं एवं प्रसन्नता प्राप्ति
6 हरी फुलवारी देखना—— धन जन की वृद्धि
7 बाल देखना—— धनलाभ और सुख का संकेत
8 मुर्दा देखना—— धन लाभ
9 समुद्र देखना——- धन प्राप्ति
10 पूजा करना ——-आकस्मिक धन लाभ
11 नदी का पानी पीना——– राज्य से लाभ या परिश्रम हो
12 सिंघासन देखना—— बहुत सुख मिले
13 अर्थी देखना ——-आय वृद्धि
14 चांदी देखना—— धन वृद्धि
15 रोटी खाना ——–धनागमन
16 दातुन करना——- सुख प्राप्ति
17 धरती पर बिस्तर लगाना——- सुख प्राप्ति
18 बाज़ार देखना—— दरिद्रता का दूर होना
19 लोहा देखना ——–किसी धनवान व्यक्ति से लाभ
20 घास का मैदान देखना——— अधिक धन संचय
21 खाई देखना ——–धन प्राप्ति
22 सीढ़ी देखना ——-सुख संपत्ति बड़े
23 दीवार में कील ठोकना ——-वृद्ध से लाभ प्राप्ति
24 मोटी बैल या गाय देखना——- लाभ
25 धनुष खींचना——– लाभप्रद यात्रा
26 सर के बाल कटे देखना ——-ऋण मुक्त होना
27 पत्र पढना ——–शुभ समाचार मिलना
28 अग्नि उठाना——– अवैध धन प्राप्ति
29 सफ़ेद फूल देखना ——-दुःख से छुटकारा मिले
30 जंगल देखना——– दुःख दूर हो, विजय मिले
31 अर्थी देखना ——-रोग से मुक्ति
32 झरना देखना——- दुःख दूर हो
33 धरती पर बिस्तर लगाना——– दीर्घायु
34 खूंटा देखना ——–धर्म में आस्था बढ़ना
35 मुर्दे से बात करना——– मुराद पूरी हो
36 घोड़ा देखना ——–संकट दूर हो

To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार (Mob) 9937207157/ 9438741641 (Call/ Whatsapp)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *