कंठ शूल
कंठ शूल के ज्योतिषीय कारण
February 1, 2024
शीतज्वर
शीतज्वर के ज्योतिषीय कारण
February 1, 2024
सूजन

मसूडों में ख्यय ओर सूजन :

सूजन : दांतों में कीडे या दर्द होने से मसूडे भी सूजन जाते हैं । मसुडों में जलन होती है । मसुडे गलने लगते हैं और दांत जड से कमजोर होकर समय से पहले ही टूटने लगते हैं ।
 
दांतों की नियमित देखभाल न करने से पपडी सी जम जाती है । (यानी प्लैक) इस प्लैक में ही सडन पैदा करने बाले बैक्टीरिया यानी कीटाणु पनपते हैं और दांतों के साथ मसुडों में भी सडन पैदा करते हैं । मसुडे फूलकर लाल हो जाते हैं । ब्रश करते समय मसूडों में दर्द होता है तथा खून भी निकल आता है ।
 
ज्योतिषीय सिद्धांत :
शुक्र या मंगल नीच का हो तो अनेक प्रकार के दन्त रोग हो जाते हैं । दांतों ब मसूडों पर बृहस्पति का अधिकार है । शुक्र और मंगल दन्त बिकार पैदा करते हैं । कन्या लग्न तथा नीच का बृहस्पति मंगल या चन्द्र लग्न में हो तो भी दन्त बिकार की आशंका रहती है ।
 
निदान :
मूनस्टोन तथा पीला गोमेद धारण करना लाभकारी है । पुखराज तथा मोती पहनना भी शुभ है ।

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *