बजरंग बाण का पाठ कैसे करें ?
बजरंग बाण का पाठ कैसे करें ?
March 4, 2024
पारिवारिक कलह दूर करने के उपाय :
पारिवारिक कलह दूर करने के उपाय :
March 4, 2024
कुंडली में सूर्य दोष होने पर ज्योतिषीय उपाय :

कुंडली में सूर्य दोष होने पर ज्योतिषीय उपाय :

सूर्य दोष : ज्योतिष के अनुसार एक कुंडली की रचना 9 ग्रहों के तालमेल से होती है । सभी 9 ग्रहों में सूर्य को प्रधान माना गया है । सूर्य से जोड़कर ही सभी ग्रहों को देखा जाता है । सूर्य देव के प्रधान देव भगवान श्री विष्णु को माना गया है । सप्ताह में रविवार का दिन सूर्य देव की आराधना को समर्पित है । सूर्य को मुख्य रूप से मान-सम्मान , सरकारी नौकरी से जोड़कर देखा जाता है ।
लग्न कुंडली में सभी अलग-अलग घर में सूर्य के अलग-अलग प्रभाव देखने को मिलते है । जिस जातक की कुंडली में सूर्य 1 , 4 , 5 , 8 , 9 , 12 घर में हो अर्थात मेष , कर्क , सिंह , वृश्चिक , धनु, मीन में से किसी एक राशी का हो तो वह तेजस्वी , प्रतापी और शत्रुहंता होता है । यदि सूर्य किसी अशुभ राशी में हो तो जातक क्रोधी , दूसरों का अहित करने वाला और नीच प्रकृति का बनता है ।
मानव जीवन और सूर्य का संबंध :
राजनीति में नेता , सत्ता , सरकारी हिसाब , शिक्षा क्षेत्र , शरीर में हड्डी से जुड़े रोग , ह्रदय रोग ये सभी सूर्य के प्रभाव से संचालित होते है । सूर्य अनुकूल होने पर उपरोक्त सभी में सफलता मिलती है । सूर्य दोष होने पर उपरोक्त सभी में व्यक्ति विफल होता है ।
एक जातक की कुंडली में सूर्य उच्च का हो सकता है किन्तु नीच का कभी नहीं होता । सूर्य अपने नीचपन का प्रभाव साथी गृह पर डालता है । जिस जातक का सूर्य उच्च का होता है वह लम्बे कद का होता है । रंग गेहुँवा और आँखे शेर के जैसी होती है । विचार का पक्का , किसी न डरने वाला और मेहनती बनता है ।

कुंडली में सूर्य दोष होने पर करें ये उपाय:

• सूर्य कमजोर होने सबसे प्रभावी उपाय सूर्य देव को अर्ध्य देना है । सूर्य को प्रातः सूर्य उदय के साथ ही अर्ध्य देना चाहिए । ऐसा करने से सूर्य दोष जनित दोष दूर होते है ।
• सूर्य दोष की अशुभता दूर करने के लिए ताम्बे की बनी चीजें जैसे : लौटा , थाली और गेहूं का दान ब्राह्मण को करना चाहिए ।
• सूर्य दोष के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए गुड़ का दान करना चाहिए । घर से बाहर काम पर जाते समय गुड़ की डली का सेवन कर साथ में पानी पीकर जाए । जितना हो सके गाय को गुड़ खिलाना चाहिए ।
• अपने पिता के प्रतिदिन चरण-स्पर्श करें । अपने पिता का सम्मान करे । भूलकर भी अपने पिता से किसी बात पर वाद-विवाद न करें ।
• ताम्बे की अंगूठी धारण करनी चाहिए ।
• भगवान श्री विष्णु की उपासना व उनके मंत्र जप से सूर्य देव प्रसन्न होते है ।
• रविवार के दिन नवग्रह मंदिर जाकर सूर्य देव की उपासना करे व उनके मंत्र जप करें ।
जिस जातक को सरकारी नौकरी में अड़चन आ रही है । लाख प्रयत्न के बाद भी नौकरी नहीं लग रही है उन्हें सूर्य देव की उपासना करनी चाहिए । जिस जातक को समाज में इज्जत नहीं मिल रही है, मान-सम्मान नहीं मिल रहा है उसका सूर्य अवश्य कमजोर मिलेगा । ऐसे जातक को भी सूर्य की उपासना करनी चाहिए । सूर्य देव की उपासना में सूर्य को प्रतिदिन प्रातः खाली पेट जल अर्पित करना(अर्ध्य देना) सबसे प्रभावी उपाय माना गया है ।

To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार- 9438741641 (call/ whatsapp)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *