भैरव मंत्र
स्फ्लता प्राप्ति हेतु भैरव मंत्र
May 5, 2024
2024 अक्षय तृतीया
2024 अक्षय तृतीया पर राशि अनुसार क्या करें दान ?
May 5, 2024
1. 21 दिन तक कीकड कि ब्रूख्य की जड में बरगद के फलों को दबाकर छोड दें । 21 दिन बाद उन्हें निकालकर छाया में सुखायें । फिर चूर्ण करके छानकर रख लें ।
मिश्री और दूध के साथ इस्कका एक चम्म्च प्रतिदिन सोते समय यह स्वयं सिद्ध टोटके करने से भैरव जी की शक्ति बढ्ती है । धातु, अस्थि पुष्ट होति है और कामशक्ति बढति है ।
2. मिटटी के घडे में मदिरा, बबूल की छाल का रस या काढा, बरगद की छाल का रस या काढा, (1:4 छाल और पानी । औटाने पर 1/8 बचनी चाहिए) मुलहठी का चूर्ण और काले घोडे की नाल डालकर ढककर काले कपडे मे लपेटकर कीकड की जड मे दबायें । प्रतिदिन संध्या को उस पर सरसों के तेल का दीपक जलायें । तीन महीने बाद यह मदिरा निकालकर छानकर रख लें । इसका तीन चम्मच प्रतिदिन संध्या में लेने पर प्रचण्ड कामशक्ति प्राप्त होता होति है । यह अद्भुत स्वयं सिद्ध टोटके में से एक है
 
3. उल्लु और कौबे के पंख को खैर की लकडि की आग में सकोरे में बन्द करके एक साथ जलायें । इस काल मे भैरब के मंत्र का जाप करते रहें । इसके ठणडा होने पर भस्म निकालकर कपडे मे छान लें । इस भस्म को जिस परिबार के आंगन मे या दो मित्रो या प्रेमि-प्रेमिका या किसी भी सम्बन्ध के ब्यक्तियो के सिर पर डाल देंगें, यह स्वयं सिद्ध टोटके के प्रभाब से उनमें जन्मजात विद्वेष और कलह उत्पन्न हो जायेगा ।
 
4. काले घोडे या भैसे की कमर की हडडी के जोड की हडडी का एक टुकडा दुर्बल भैरव शक्ति बाले ब्यक्तियो को भाग्यबान बनाता है । इसे आंगन के मध्य, कमर में या घर के दरबाजे के दायीं तरफ दबाना या बांधना चाहिए । कमर में बांधने पर कामशक्ति प्रचण्ड होति है । ( स्त्रीयों के लिए भैंस)
 
5. काले रंग के मन्दिर की भांति नुकीले पत्थर को आंगन के मध्य कच्ची जमीन में (नीचे 9 इंच उंपर 18 इंच) लगाने पर दुर्बल भैरव शक्ति सबल होति है ;भाग्य , सन्तान और कामशक्ति को बल मिलता है । यह स्वयं सिद्ध टोटके से तनाब, ख्युब्धता, निराशा, चिन्ता दूर होती है ।
 
नोट : क्रमांक 3 एबं 4 ऐसे ब्यक्तियों के लिये नहिं है, जिनमें भैरवशक्ति की उग्रता के कारण भाग्य दोष, राजदण्ड, कलह, उग्रता, क्रोध आदि है । इससे उन्हें और हानि होगि ।
 
 
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार (मो.) 9438741641 /9937207157 {Call / Whatsapp}
जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *