सुलेमानी लाल परी साधना क्या है?

Laal Pari : ये जीवन में आने वाली धन की कमी को दूर करती है और किसी ना किसी माद्यम से लोटरी अदि से आकस्मिक धन की प्राप्ति कराती है । इस से घर का महोल सुख मय हो जाता है । कई दोस्तों ने पूछा के पत्नी बहुत झगडालू है कलेश बना रहता है । ये साधना आपकी पत्नी के सुभाह को एक दम बदल देगी और वोह आपको समझने लगेगी क्यों के इन साधनायो का गुप्त रहस्य जही है के अप्सरा तत्व आपकी पत्नी में समा वेश कर जाता है और उस में प्रेम लजा और समर्पण जैसे गुण पैदा कर देता है । और आपके घर के महोल को एक नये शांति और उर्जा से भर देती है क्यों के अप्सरा में लक्ष्मी और जल तत्व प्रधान होता है ये सोंदर्य के साथ साथ शांति का भी पर्तीक है ।

Laal Pari Sadhna Vidhi :
१. इस लाल परी (laal pari) साधना को किसी भी नोचंदे जुमेरात (संक्राति के बाद पर्थम शुक्रवार ) को शुरू करे ।
२. चमेली के तेल का दिया लगा दे लाल सिंगरफ ले आये उस से अपने चारो और एक घेरा लगा ले जब साधना में बैठे तो जब तक जप पूर्ण ना हो उस घेरे से बाहर ना हो इस बात का खास ख्याल रखे ।
चमेली या गुलाब के पुष्पों को पास रखे जब laal pari हाजर हो मंत्र पड़ते हुए पुष्पों की वर्षा करते हुए उसका स्वागत करे और वोह आप के पास आकार बैठ जाये तो बिचलित ना हो बस मन्त्र जप करते रहे जब आपकी साधना पूर्ण हो जाये तभी बात करे और तब तक आपको कुछ भी कहे बोले ना जप पूरा होते ही वोह चली जाएगी और ऐसा हर दिन होगा इस बात का ख्याल रखे जब अंतिम दिन हो तब वोह बेवस हो आपको कुछ मांगने के लिए कहे तो आप उसे कहे तुम मेरी प्रेमिका बन जायो या जो आपकी इच्छा हो कह सकते हो ।
३. भोग के लिए फल व मिठाई अदि पास रखे ।
४ . एक पानी का पात्र और लोवान का धूप अदि जलाये ।
५ . हिना या चमेली का इतर भी पास रखे थोरी रूई भी जब आपके पास बैठे तो उसे इतर का फोया दे मतलव थोरी रूई पर इतर लगाकर भेंट करे ।
६. माला लाल हकीक की ले ।
७. वस्त्र सफ़ेद लुंगी जा कुरता पजामा भी पहन सकते हो ।
८. दिशा पशिम की और मुख कर साधना करे ।
९. साधना के लिए एकात कक्ष होना अनवार्य है ।
१०. इसमें आसान जैसे नवाज पड़ते है उसी परकार घुटनों के बल बैठ सकते हो अगर असुबिधा हो तो आप जैसे बैठ सकते हो बैठ जाये मगर ज्यादा हिले जुले ना ।
११. कमरे में इतर या सेंट अदि छिरक दे । अगर वती भी लगा सकते हो अगर लोवान का धूप प्राप्त ना हो ।
सर्व पर्थम गुरु पूजन कर और साधना के लिए आज्ञा मांगे और फिर गणेश का पूजन करे और सफलता के लिए प्रार्थना करे ।
फिर निम्न laal pari मंत्र की २१ माला जप करे और जप से पहले आसान पर बैठ के सिंग्रिफ से अपने चारो और रेखा खीच ले और दूध का बना प्रशाद बर्फी जा पेडे अदि भी पास रखे और उपर जो जो समान बताया है सभी रखे २१ माला से पहले आप उठे ना । सामने किसी बजोट रख उस पे चमेली के तेल का दिया अदि लगा दे और लोवान का धूप लगा दे फिर मन्त्र जप शुरू करे । ये laal pari साधना २१ दिन करनी है ।
Laal Pari Shabar Mantra 
मंत्र : । । बिस्मिला सुलेमान लाल परी हाथ पे धरी खावे चुरी निलावे कुञ्ज हरी । ।

सम्पर्क करे (मो.) 9438741641/ 9937207157  {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Comment