चमगादड़ का शुभ अशुभ प्रभाव

Chamgadar ka shubh ashubh prabhav

Chamgadar ka Shubh Ashubh Prabhav : आपके घर में प्रवेश करने वाला हर एक जीव अपने साथ कुछ शक्तियां भी लाता है । कुछ सकरात्मक होतीं हैं, तो कुछ जीव अपने साथ आपके घर में विनाश को भी साथ लाते हैं । वास्तु और ज्योतिष के अनुसार चमगादड़ (chamgadar) एक ऐसा ही विनाशकारी जीव है … Read more

इन SPECIAL टोटकों से लाइफ हो जाएगी शानदार

इन SPECIAL टोटकों से लाइफ हो जाएगी शानदार :

इन SPECIAL टोटकों से लाइफ हो जाएगी शानदार : टोटकों : ज्योतिष शास्त्र की मानें तो अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में ग्रहों की अशुभ स्थिति चल रही हो तो उसके जीवन में बहुत सी परेशानियां आने लगती हैं । इसी के बचाव के लिए ज्योतिष में बहुत से उपाय बताए गए हैं, जिसे अपनाने … Read more

जन्म कुण्डली में स्थित शत्रु एवं रोग योग की विवेचन एवं फलादेश

जन्म कुण्डली में स्थित शत्रु एवं रोग योग की विवेचन एवं फलादेश :

जन्म कुण्डली में स्थित शत्रु एवं रोग योग की विवेचन एवं फलादेश : जन्म कुण्डली में स्थित छठे भाव से किसी जातक के शत्रु एवं रोग का विवेचन ज्योतिषाचार्यों द्वारा किया जाता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जन्म कुण्डली के छठे भाव का फलादेश निम्न प्रकार से है – ♦ यदि किसी जातक की जन्म कुण्डली … Read more

कुंडली में कालसर्प दोष का योग क्यूँ बनता हैं :

कालसर्प दोष

कुंडली में कालसर्प दोष का योग क्यूँ बनता हैं : कालसर्प दोष – जब किसी व्यक्ति की कुंडली में सारे ग्रह राहु और केतु के बीच में आ जाते तो यह योग कालसर्प दोष कहलाता हैं । किसी व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष हैं या नहीं इसका पता व्यक्ति की कुंडली में ग्रहों की … Read more

जन्मकुंडली और रोगों की तीव्रता

जन्मकुंडली और रोगों की तीव्रता

जन्मकुंडली और रोगों की तीव्रता : रोगों के क्षेत्र में चिकित्सा विज्ञान के साथ ही ज्योतिष विज्ञान के ग्रह एवं नक्षत्रों की भी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जन्म कुण्डली से इस बात को जानने में बहुत सहायता मिलती है कि व्यक्ति को कब , क्यों और किस प्रकार के रोगो की सम्भावना है । इसी … Read more

यौन रोग और ज्योतिष :

यौन रोग और ज्योतिष :

यौन रोग और ज्योतिष : मनुष्य का वर्तमान जीवन उनके पूर्व जन्म के कार्मों पर निर्भर करता है। अपने कार्मों के कारण ही मनुष्य को सुख-दुख, रोग और मृत्यु की प्राप्ति होती है। व्यक्ति का जैसा कर्म होता है उसी अनुसार जन्म के समय उनकी कुंडली में ग्रहों की स्थिति बनती है और उनसे व्यक्ति … Read more

जानें आपकी जन्मकुंडली कौन से लाभकारी योग हैं ..

लाभकारी योग

जानें आपकी जन्मकुंडली कौन से लाभकारी योग हैं .. कुछ भाग्यशाली लोगों की कुंडली में ग्रहों की विशिष्ट स्थिति से कुछ विशेष प्रकार के लाभकारी योग़ बनते है, जो व्यक्ति (जातक) के जीवन पर शुभ, अशुभ व मध्यम प्रभाव डालते हैं । बिभिन्न ज्योतिष ग्रंथों में इन योग़ का विस्तृत वर्णन मिलता है । इन … Read more

जन्म कुंडली के कुछ विशिष्ट योगों

योगों

जन्म कुंडली के कुछ विशिष्ट योगों : द्विभार्या योग : राहू लग्न में पुरुष राशि (सिंह के अलावा) में हो अथवा 7वें भाव में सूर्य, शनि, मंगल, केतु या राहू में से कोई भी दो ग्रह (युति दृष्टि द्वारा) जुड़ जाएं तो द्विभार्या योग बनता है । (ऐसे में सप्तमेष व द्वादशेश की स्थिति भी … Read more

आओ जाने अपनी जन्मकुंडली से प्रेम भाव का फल :

आओ जाने अपनी जन्मकुंडली से प्रेम भाव का फल :

आओ जाने अपनी जन्मकुंडली से प्रेम भाव का फल : प्रेम एक पवित्र बंधन है मानव मात्र प्रेम के सहारे जीता है और सदैव प्रेम के लिए लालायित रहता है । प्रेम का अर्थ केवल पति –पत्नी पर प्रेम प्रेमिका के प्रेम से नहीं लिया जाना चाहिए । मनुष्य भी समाज में रहता है उसके … Read more