ऋण नाशक उपाय
चमत्कारी ऋण नाशक उपाय :
August 7, 2023
विदेश योग
जन्म कुंडली और विदेश जाने का सम्बंध
August 7, 2023
उधार

उधार या कर्ज से छुटकारा दिलाते हैं 7 उपाय :

उधार :”आधुनिक सुख-सुविधाओं के आकर्षण में आजकल कई लोग जुट गए हैं, जो उन्हें प्राप्त करने के लिए विभिन्न तरीकों की कोशिश कर रहे हैं । इन सुविधाओं को प्राप्त करने के लिए धन की आवश्यकता होती है, और यहाँ तक कि सामान्य आय वाले व्यक्तियों को भी कर्ज लेने की आवश्यकता हो सकती है । लेकिन इस उधार/कर्ज की चक्रव्यूह में फंस जाने के बाद, कई लोग उसके चकर में उलझ जाते हैं और उससे निकलने में समस्याओं का सामना करते हैं ।

उधार या कर्ज एक ऐसा गहरा दलदल है, जिसमें एक बार फंसने पर व्यक्ति को बहुत कठिनाईयों का सामना करना पड़ सकता है । इसके अलावा, कर्ज के चलते आर्थिक तंगी और मानसिक तनाव भी बढ़ सकता है । आजकल, हमें समय-समय पर अपनी आर्थिक स्थिति की जांच करनी चाहिए और सावधानी से कर्ज लेने के फैसले लेने चाहिए, ताकि हम अपने आर्थिक संकटों से बच सकें और आने वाले समय में स्थिरता बनाए रख सकें ।”

ज्योतिष शास्त्र में षष्ठम, अष्टम, द्वादश स्थान एवं मंगल ग्रह को उधार और कर्ज का कारक ग्रह माना जाता है । मंगल के कमजोर होने पर या पापग्रह से संबंधित होने पर, अष्टम, द्वादश, षष्ठम स्थान पर नीच या अस्त स्थिति में होने पर व्यक्ति सदैव ऋणी बना रहता है । ऐसे में यदि उस पर शुभ ग्रहों की दृष्टि पड़े तो कर्ज तो होता है पर वह बड़ी मुश्किल से उतर जाता है । शास्त्रों में मंगलवार और बुधवार को कर्ज के लेन-देन के लिए निषेध किया है । मंगलवार को कर्ज लेने वाला जीवनभर कर्ज नहीं चुका पाता तथा उस व्यक्ति की संतान भी इस वजह परेशानियां उठाती हैं ।

उधार या कर्ज निवारण से मुक्ति के लिए उपाय…

– शनिवार को ऋणमुक्तेश्वर महादेव का पूजन करें ।
 
– मंगल की भातपूजा, दान, होम और जप करें ।
 
– मंगल एवं बुधवार को कर्ज का लेन-देन न करें ।
 
– लाल, सफेद वस्त्रों का अधिकतम प्रयोग करें ।
 
– श्रीगणेश को प्रतिदिन दूर्वा और मोदक का भोग लगाएं ।
 
– श्रीगणेश का अथर्वशीर्ष का पाठ प्रति बुधवार करें ।
 
– शिवलिंग पर प्रतिदिन कच्चा दूध चढ़ाएं ।
 
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार 9438741641 (call/ whatsapp)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *