कार्य सिद्धि
कार्य सिद्धि हेतु कालिका मंत्र कैसे करें ?
November 1, 2022
गडा धन मंत्र
पृथ्वी में गडा हुआ धन दिखने का मंत्र :
November 11, 2022
गांठा ताबीज मंत्र

गांठा ताबीज मंत्र :

गांठा ताबीज मंत्र एक ऐसा शक्तिशाली मंत्र है जो हमें संकटों से बचाने और सुरक्षा प्रदान करने का कार्य करता है । इस गांठा ताबीज मंत्र को बनाने के लिए विशेष ताबीज का उपयोग किया जाता है जो शक्तिशाली ऊर्जा के साथ युक्त होता है। इसे धार्मिक और आध्यात्मिक उद्देश्यों के लिए प्रयोग किया जाता है ।

गांठा ताबीज मंत्र का विधान और उपयोग उचित गुरुद्वारा या पंडित जी के मार्गदर्शन में करना चाहिए । इसे सूर्य उदय और सूर्य अस्त होने के पश्चात जपना चाहिए । ताबीज को ध्यान से पहनना चाहिए और मन्त्र जप को अंतःकरण में करना चाहिए । गांठा ताबीज के प्रयोग से हमें सुरक्षा, स्थिरता और सुख की प्राप्ति होती है ।

श्री गणेशाय नम:
गुरु जी की अजरी की बजरी । बजरी तो बजरी ।
केबाड बजरी । बन्दों दश द्वार  ।श्याल बन्दों । पौसाला बन्दों । अजरंगी बन्दों । बजरंगी बन्दों ।

आकाश बन्दों ।पाताल बन्दों ।र्भोणी बन्दों ।सौऊ कोस पीछे बन्दों ।सोऊ कोस आगे बन्दों ।चार दिशा बन्दों ।चार ओदिशा बन्दों ।मांस – मांस बन्दों ।रक्त – रक्त बन्दों ।चाम –चाम बन्दों ।रूम –रूम बन्दों ।बाल – बाल बन्दों । नौ नाडी बहतर कोठा बन्दों ।रे बाबा चार आबाटा बन्दों ।चार बाटा बन्दों ।भैर बन्दों । भीतर बन्दों ।खांया खलायां । लगा लगांया बाण बन्दों ।रे बाण तोई को बन्दों । तेरा गुरु को बन्दों । रे बाबा को बन्दों ।रे बाबा मेरी बात ।नि माणी तो । तोई को बन्दों । हे बाबा आऊ ।तचाई मांस । गला को लोई ।रक्त मुकाई ।शरीर मुकाई । रौल गई ।बोल गई ।तड़प करी ।कडाट करी ।ओचार करी । बाड फोड़ी ।उज्यार खाई तो ।मेरा बंधन लागे । बंदी नि लाई तो ।बीर बजरंगी तेरी दुहाई ।चौघड बीर तेरी दुहाई ।बर्मी गरुड़ तेरी दुहाई ।चौसठ जोगणीयो तेरी कार ।पिंडा की रक्षा कार ।महादेब की जटा की कार ।पार्बती की पीड़ा की कार ।द्रोपदी की साडी की कार ।धनवन्तरी बैद्य की कार ।पांच पांडो की कार ।छटा नारायण की कार ।

बीर बजरंगी तू बन्द । बन्द – बंद बीर बली बन्द। नहीं तो तेरी कार पड़े ।हिर्गी बन्द। मिर्गी –बन्द। हुमताला – तुमताल ।हस्ति तोड़ी ।इसमें संची बांधों। लौंग दी जंजीरा ।तेरी चौकी ।तेरी कार ।बन्धों बन्धों बिथा। बार बार बन्धों ।बारह बर्ष की बन्धों ।चेडा चेटका का ।सीर मा मारूं । मैं बजर की ताल । फुरो मंत्र हनुमान तंत्र ।ईश्वर बाचा: ।

इस पुरे गांठा ताबीज मंत्र को अमाबस्या को १०१ बार भोजपत्र पर लिखकर ताबीज में भरे । सभी तरह की बिघ्न बाधायें समाप्त हों ।

Our Facebook Page Link

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार
हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *