गुरु प्रत्यक्ष दर्शन साधना :
गुरु प्रत्यक्ष दर्शन साधना क्या है?
April 14, 2024
दिव्य सर्वमंगला साधना :-
दिव्य सर्वमंगला साधना क्या है?
April 14, 2024
घोर रूपिणी साधना :

घोर रूपिणी साधना क्या है ?

घोर रूपिणी साधना बहुत ही तीक्ष्ण प्रभावी रखती है । इसका उपयोग शत्रु वशीकरण के लिए और रूठी हुई पत्नी या पति को वश में करने के लिए किया जाता है । यह भी ध्यान रखे के किसी भी अनुचित कार्य के लिए यह प्रयोग न करे अथवा आपको हानि होगी । यहा सिर्फ जिज्ञाशा के लिए यह प्रयोग दे रहा हु इसे अपने उच्च अधिकारी पत्नी अथवा पति को अनुकूल बनाने के लिए प्रयोग करे ।
घोर रूपिणी साधना विधि :
किसी भी अमावस्या, ग्रहण काल, दीपावली आदि शुभ महूरत में शुरू कर इसका जाप 7 दिन में 11000 कर के सिद्ध कर ले फिर किसी भी ख्द्य पदारथ भोजन आदि जब भी आप करने बैठे उसे 7 वार अभिमंत्रिक कर जिसका भी नाम लेकर खाया जाता है उसका निश्चय ही वशीकरण हो जाता है और वह आपके अनुकूल कार्य करने लगेगा और आपकी आज्ञा का पालन करेगा ।
• किसी बेजोट पे एक लाल कपड़ा विशा दे उसके उपर एक नारियल तिल की ढेरी पे स्थाप्त करे ।
• नारियल का पूजन करे उस पे सिंदूर का तिलक करे धूप दीप आदि से घोर रूपिणी को स्मरण करते हुये पूजन करे ।
• भोग मिठाई का लगाए ।
• दिशा दक्षिण की तरफ मुख रखे ।
• आसन कंबल का ले या कोई भी ऊनी आसन ले ले ।
• माला काले हकीक जा रुद्राक्ष की ठीक रहती है ।
• वस्त्र किसी भी तरह के पहन ले।इस साधना को शाम 8 से 10 बजे के बीच कभी भी शुरू कर ले ।
• मंत्र जाप पूरा हो जाए तो नारियल किसी भी शिव मंदिर या काली मां के मंदिर में कुछ दक्षिणा के साथ चढ़ा दे और सफलता के लिए प्रार्थना करे ।
• गुरु पूजन और गणेश पूजन हर साधना में अनिवार्य होता है इसका ध्यान रखे ।
घोर रूपिणी साधना मंत्र : ।। ॐ नमः कट विकट घोर रूपिणी स्वाहा।।

सम्पर्क करे (मो.) 9937207157/  9438741641  {Call / Whatsapp}

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *