सूर्य के फल
बिभिन्न भाबों में सूर्य के फल :
December 30, 2022
मंगल के फल
बिभिन्न भाबों में मंगल के फल :
December 30, 2022
चन्द्र के फल

बिभिन्न भाबों में चन्द्र के फल :

चन्द्र के फल कुण्डली के बारहबे भाबों में…

१. लग्न भाबगत चन्द्र के फल ब्यक्ति को धनबान, सुखी, बलबान, रुपसम्पन्न बनाता है । नीच राशि में चन्द्र हो तो ब्यक्ति को मन्दबुद्धि तथा धनहीन बनाता है ।

२. दुसरे भाब का चन्द्र के फल ब्यक्ति को त्यागी, बुद्धिमान, धनबान, चंचल, कीर्तिबान, सहनशील, सुन्दर तथा कन्तिबान बनाता है ।

३. तीसरे भाब का चन्द्र के फल ब्यक्ति को दुष्टप्रबृति तथा भाइयों का नाश करने बाला बनाता है । यदि यह बली हो तो धनबान बनाता है ।

४. चौथे भाब का चन्द्र के फल ब्यक्ति को धनबान, प्रेमी, हितेषी स्वस्थ, तामसिक तथा भबन का स्वामी बनाता है ।

५. पंचम स्थान का चन्द्र के फल ब्यक्ति को सुखी, धनबान, संतानयुक्त बनाता है । यही चन्द्र अगर बलहीन हो तो स्त्री तथा पुत्रादि सुख से बंचित करता है ।

६. छठे भाब का चन्द्र रोगी तथा कलेश्पूर्ण जीबन देता है । यदि यह बली हो तो पूर्ण सुख देता है ।

७. सप्तम भाब का बली चन्द्र सुन्दर काया तथा स्त्री सुख देता है । यदि यह पापयुक्त हो तो पत्नी को रोगी तथा दुःख का भागी बनाता है ।

८. पाप ग्रह चन्द्र अष्टम भाब में अल्पायु देता हैं । यदि यह बली हो तथा शुद्ध अथबा गुरु के घर में हो तो रोगी तथा अनेक कष्ट देता है ।

९. पूर्णबली चन्द्र यंहा सुख तथा प्रेम देता है । बलहीन चन्द्र हो तो धनहानि, कुमार्गी तथा गुणहीन बनाता है ।

१०. यँहा चन्द्र बलबान बनाता है । परन्तु यदि यह बलहीन हो तो दुर्बल, कर्महीन तथा रोगी बनाता है।

११. एकादश भाब का बली चन्द्र सुखी, धनबान, पत्नी आदि सुख देता है । यदि यंहा यह बलहीन हो तो दुःख, कलेश देता है तथा मूढ़बुद्धि बनाता है ।

१२. बारहबें भाब का चन्द्र दरिद्र बनाता है । परन्तु यदि बली हो तो सुख देता है ।

Our Facebook Page Link

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार
हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे :मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *