नीतीश कुमार
नीतीश कुमार 2024 की भबिष्यफ़ल :
December 13, 2023
ओम बिरला
ओम बिरला 2024 की भबिष्यफ़ल :
December 14, 2023
नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी 2024 की भबिष्यफ़ल :

नरेंद्र मोदी : बृश्चिक लग्न में जन्मे नरेंद्र मोदी के लिए साल 2024 मुशिकलों व कठिनाईयों से भरा तो रहेगा , लेकिन वे हर मुशिकलों हर परेशानी का रामबाण इलाज ढूढ़ कर निकालने में सफल रहेंगे । इस बर्ष 2024 में उन्हें मंगल की महादशा चलेगी । जन्म कुण्डली बिचार को लिया जाये तो , मंगल कुण्डली में लग्नेश है , तथा लग्नेश लग्न में स्थित है । स्वगृही होकर कचक योग नामक महापुरुष योग बना रहा है । लग्नेश बुध भी लाभ स्थान में स्वगृही है । इनके कुण्डली में शत्रुहंता योग है , अतः ये तमाम तरह के शत्रुओं पर भारी पड़ेंगे । मुशिकलों व चुनौतियों से इनका चोली -दामन का साथ रहेगा , और बृश्चिक लग्न के प्रभाब से तमाम चुनौतियों परेशानियों का सामना ये निडरता से मजबूती से करेंगे ।

श्री नरेंद्र मोदी की जन्म कुण्डली में बुध लाभेश लाभ स्थान में स्वगृही है । अतः बुद्धि में वो बिलक्षण रहेगी , बुध बाणी व बुद्धिमता कारक ग्रह  है ,बाक्पटुता और बुद्धिमानी से हर प्रकार के बैर -बिरोध का सामना कुशलता व चतुराई से करेंगे । हालांकि कई मोर्चो पर बिरोध भी होगा । आंदोलन का क्रम भी चलता रहेगा । नरेंद्र मोदी आलोचना व बिरोधियों की बिलकुल परबाह नहीं करेंगे । तानाशाही नीतियों के कारण उन्हें कई बार प्रजातांत्रिक बिरोध का सामना भी करना पडेगा । एक और जहां इनकी कुण्डली में रूचकयोग नामक महापुरुष योग बना हुआ है , तो वहीँ दूसरी  नीचभंग राजयोग का भी प्रभाब है । नीच के चन्द्रमा की महादशा इनके भाग्योन्नति का आधार बनी । बिकास पुरुष व कटरपंथी सोच बाली छबि ने इन्हें प्रधानमंत्री बनाने में महवत्पूर्ण भूमिका निभाई । लग्नेश मंगल लग्न स्थान में स्वगृही है , अतः ऐसा ब्यक्ति व जातक शत्रुजयी होता है , कैसा भी बलबान शत्रु हो उस पर बिजय श्री हासिल करता है । शत्रु को परास्त करता है । मंगल ने ही इन्हें दबंग , साहसी व निडर बनाया । इसी कारण ये कठोर से कठोर व साहसिक निर्णय लेने में कामयाब हुए । फिर फैसला चाहे जी.एस. टी का हो नोटबंदी का या धारा 370 का। इन्हें कठोर व कड़े निर्णयो से जनता में तानाशाही बाली छबि स्थापित हुई । लग्न में महालक्ष्मी योग चन्द्रमा +मंगल की युति से बना हुआ है , चन्द्रमा नीच का है परन्तु साथ में मंगल होने से चन्द्रमा का नीचत्व समाप्त हो गया तथा इसी चन्द्रमा की महादशा ने इन्हें प्रधानमंत्री पद पर प्रतिष्ठापित किया ।

श्री नरेंद्र मोदी की कुंडली में चौथे स्थान में स्थित गुरु दशम स्थान को पूर्ण दृष्टि से देख रहा है , राज्येश की राज्य स्थान पर दृष्टि प्रबल राजयोग कारक रही है । नरेंद्र मोदी की कुण्डली में छठे भाब का अधिपति मंगल लग्न स्थान में स्वगृही है , जो शंत्रुहन्ता योग बना रहा है । शत्रु इनके सामने टिक नहीं पायेंगे। केतु +बुध के कारण कई बार बाणी में आक्रामकता , ओज व कड़बे बचन भी करेगा ।

इस साल 2024 में श्री नरेंद्र मोदी 73 बर्ष पूर्ण कर 74 वें बर्ष प्रबेश करेंगे।  इस बर्ष नरेंद्र मोदी की कुण्डली में चतुर्थ स्थानस्थ ढैया का प्रभाब आरम्भ हो गया है , अतः इनके लिए राजनीतिक क्षेत्र में , आर्थिक क्षेत्र में , सामाजिक क्षेत्र में , बिश्व क्षितिज पर हर मोर्च पर दिक्क़ते व चुनौतियां रहेगी । अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चुनौतियां खूब रहेगी । इस बर्ष 2024 में देश में आम चुनाब प्रस्ताबित है , जो बर्ष के पूर्बारद्ध में होने हैं । इन चुनाबों में , इनकी लोकप्रियता का ग्राफ कुछ गिरा हुआ रहेगा । 2024 में ये सत्ता के नए समीकरण , नई संभाबना तलाशेंगे , वहीं नोटबंदी जैसे कड़े फैसलों का खामियाजा भी कहीं न कहीं भुगतना पड़ सकता है ।

Connect with us on our Facebook Page

आचार्य प्रदीप कुमार (मो) :+91-9438741641 (Call/Whatsapp)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *