बास्तु टिप्स
कुछ महत्वपूर्ण बास्तु टिप्स :
January 6, 2024
खोए हुए मनुष्य हेतु
खोए हुए मनुष्य हेतु प्रयोग:
January 8, 2024
प्रेम और ज्योतिष

प्रेम -संबंध और ज्योतिष 

प्रेम और ज्योतिष : ज्योतिष के चक्र में 12 राशियां एबं 9 ग्रह है । प्रत्येक राशि दूसरी राशि के प्रति आकर्षण एबं बिकर्षण दोनों तत्वों से जुडी हुई है । “समान व्यसने तु सौख्यमं ” सूत्र के अनुसार , अग्नि तत्व बाली राशि अग्नि तत्व से एबं जल तत्व बाली राशि जल तत्व से आकर्षित होकर मैत्री भाब रखती है । अग्नि तत्व बाली राशि , बायु तत्व राशि से भी मैत्री भाब रख सकती है , क्यूँकि बायु अग्नि को प्रदीप्त करने में सहायक तत्व है । अग्नि तत्व का जल से स्वभाबिक बैर रहेगा । सिंह और मेष , बृषभ और मेष का मैत्री भाब हो सकता है , यह सोचना तार्किक है ।

समान तत्व बाले नैसर्गिक मैत्री भाब रखते हैं । समान प्रकृति , समान सोच बाले स्त्री -पुरुष ,युवक -युबतियाँ जब मिलते हैं , तो स्वतः ही एक -दूसरे के प्रति आकर्षित हो जाते हैं और उनमें प्रगाढ़ मैत्री स्थापित हो जाती है । प्रगाढ़ मैत्री प्रेम में बदल जाती है तथा प्रेम परिणय -सूत्र में बदल जाता है । इसके बिपरीत ऐसे उदाहरणों की भी कमी नहीं , जब बिबाह -सूत्रों में बधें दो प्राणी बेमेल बिबाह के शिकार हो जाते हैं और पति -पत्नी को नारकीय जीबन जीने के लिए मजबूर कर देते हैं । इसका नतीजा तलाक , आत्महत्या , वलात्कार , प्रतिशोध जैसे जघन्य अमानवीय ब्यवहार की घृणित कहानियों में परिणत हो जाता है । इस अध्याय के माध्यम से आप अपनी अनुकूल राशियों से मैत्री भाब स्थापित कर अपने जीबन में आगे बढ़ाने बाली राशियों से सहायता प्राप्त कर सकते है ।

प्रेम और ज्योतिष :

यह अध्याय आपको अपने जीबनसाथी के चुनाव में काफी सहायता करेगा। इतना ही नहीं , किन राशियों से आपको साबधान रहना है ,कौन आपको नुक्सान पहुंचा सकता है ,आपकी शत्रु राशियां कौन -कौन सी हैं ? इसकी जानकारी भी आपको इसी अध्याय में मिलेगी । इस दृष्टि से सबसे पहले राशियों के तत्व , स्वभाब , लिंग एबं प्रकृति को पहचानना जरूरी है । जिनका बिबरण इस प्रकार है –

01 . प्रेम और ज्योतिष में अग्नि तत्व  (उत्तेजक राशियां)

मेष (चर अग्नि), सिंह (स्थिर अग्नि), धनु (द्विस्वभाब अग्नि )

02. प्रेम और ज्योतिष में पृथ्वी तत्व (भौतिक राशियां )

बृष (स्थिर पृथ्वी तत्व ), कन्या (द्विस्वभाब पृथ्वी तत्व ), मकर (चर पृथ्वी तत्व)

03 . प्रेम और ज्योतिष में बायु तत्व (बिचार प्रधान राशियां )

मिथुन (द्विस्वभाब बायु तत्व ), तुला (चर बायु तत्व ), कुम्भ (स्थिर बायु तत्व )

04 . प्रेम और ज्योतिष में जल तत्व (संबेदनशील , भाबुक राशियां )

कर्क (चर जल तत्व ), ब्रिश्चक (स्थिर जल तत्व ), मीन (द्विस्वभाब जल तत्व)

05 .चर राशियां  (मेष , कर्क , तुला , मकर )

06 . स्थिर राशियां (बृष ,सिंह ,ब्रिश्चक ,कुंभ )

07 .द्विस्वभाब राशियां (मिथुन ,कन्या , धनु , मीन )

08 .पुरुष राशियां (मेष , मिथुन , सिंह , तुला , धनु ,कुंभ )

09 . स्त्री राशियां (बृष , कर्क ,कन्या , बृश्चिक , मकर , मीन )

Our Facebook Page Link

आचार्य प्रदीप कुमार (मो) :+91-9438741641 (Call/Whatsapp)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *