मातंगी यंत्र
मातंगी यंत्र साधना कैसे करें ?
May 11, 2024
श्री कुबेर धन लक्ष्मी वर्षा यंत्र :
श्री कुबेर धन लक्ष्मी वर्षा यंत्र क्या होता है ?
May 11, 2024
कामराज आकर्षण यन्त्र [ पत्नी -प्रेमिका ] :

कामराज आकर्षण यन्त्र [ पत्नी -प्रेमिका ]:

आकर्षण यन्त्र : यदि किसी की स्त्री अथवा प्रेमिका उससे रूठकर दूर हो जाए या चली जाए तो इस स्थिति में आकर्षण यंत्र क्रिया की जाती है । आकर्षण में पुतली विद्या का प्रयोग बहुत कारगर होता है क्योकि इच्छित व्यक्ति दूर होता है या सामने नहीं होता । इसलिए वशीकरण की बजाय आकर्षण इसलिए अधिक प्रभावी होता है ताकि पहले इच्छित को बुलाया जा सके । पुतली विद्या में प्राण प्रतिष्ठा बेहद महत्वपूर्ण होता है जिसमे नक्षत्र ,मुहूर्त ,तांत्रिक पद्धति महत मायने रखती है । इस पद्धति में यन्त्र और पुतली दोनों का प्रयोग किया जाता है जिससे अधिक प्रभाव आता है ।
भोजपत्र पर गोरोचन ,कुमकुम और श्री खंड और कस्तूरी से ,जाती वृक्ष की कलम से आकर्षण यन्त्र को लिखे और मदन वृक्ष [ मैनफल ] की लकड़ी से कामदेवी की प्रतिमा बनाकर उस नारी प्रतिमा के ह्रदय में यह आकर्षण यन्त्र रखकर रात्री के प्रथम प्रहर में पंचोपचार पूजनोपरान्त निम्न मंत्र का जप करे ।
आकर्षण यन्त्र मंत्र :
मंत्र – कामोअनंग पञ्च शराः कन्दर्पोमीन के तनः। श्री विष्णु तनयो देवः प्रसन्नो भवतु प्रभो ।
आकर्षण यन्त्र में बीज मन्त्रों के बीच में इच्छित स्त्री का नाम लिखे । जैसे ऐं ह्रीं क्लीं —— ऐं ह्रीं क्लीं ।
तांत्रिक लोग उपरोक्त मंत्र के स्थान पर तांत्रिक आकर्षण मंत्र का प्रयोग करते या करवाते हैं । इनकी पद्धति में पुतली निर्माण खुद करके प्राण प्रतिष्ठा करके उस व्यक्ति को प्रदान करते हैं जिसकी पत्नी या प्रेमिका दूर हुई हो । इसके बाद आकर्षण यन्त्र भी देकर मंत्र प्रदान करते हैं और तब मंत्र का जप करने को कहते हैं । इस प्रकार व्यक्ति की सफलता बढ़ जाती है ।
To know more about Tantra & Astrological services, please feel free to Contact Us :
ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार- मो. 9438741641 /9937207157 {Call / Whatsapp}
जय माँ कामाख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *