मधुमेह
मधुमेह :
December 1, 2022
हाई ब्लडप्रेशर
उंच रक्तचाप ( हाई ब्लडप्रेशर ) :
December 1, 2022
दोषी रत्नों

दोषी रत्न का चयन कैसे करें :

दोषी रत्नों : नवग्रहों के रत्न में शुद्ध रत्नों को धारण करना ही शुभ बतलाया गया है तथा दोषी रत्नों को ग्रहण करना अशुभ बतलाया गया है । कारण कि दोषी रत्नों धारण करने से मानब को अनिष्ट फल देते हैं । किन्तु शास्त्रों में कहा गया है कि बिभिन्न ग्रहों की बिभिन्न स्थितियों में उन ग्रहों के दोषी रत्नों भी धारण करने से शुभप्रद हो जाते हैं । नबग्रहों के रत्नों के बिबेचन के प्रसंग में यह बिबेचन भी उचित होगा । अतएब उसे यहाँ प्रस्तुत किया जा रहा है ।

माणिक :
यदि किसी की जन्मकुण्डली में सूर्य , चन्द्र राशि पर स्थित हों तो सफ़ेद छीटायुक्त दोषी माणिक भी उसे लाभप्रद होगा ।यदि सूर्य, राहु केतु और शनि से युक्त हो तो काले छीटे बाला माणिक धारण करना चाहिये ।

मोती :
जन्म स्थान में चन्द्र के साथ राहु , केतु एबं शनि होने पर काले दाग बाला दोषी मोती भी लाभप्रद होगा ।

मूँगा :
जन्म स्थान में मंगल के साथ शनि , राहु , केतु होने पर दोषी मूँगा धारण करें तो यह लाभप्रद रहेगा ।

पुखराज :
सूर्य के साथ गुरु ,राहु , केतु , शनि या मंगल की कुदृष्टि हो तो दोषी पुखराज लाभकारी है ।

मूँगा :
जन्म स्थान में मंगल के साथ शनि ,राहु ,केतु होने पर दोषी मूँगा पहनने से लाभ होगा ।

हीरा :
शुक्र ग्रह के साथ केतु ,शनि , मंगल या बुध हो तो दोषी हीरा भी शुभ फल देगा ।

नीलम :
शनि के साथ मंगल ,राहु , केतु हो तो दोषी नीलम भी लाभप्रद होगा ।

गोमेद :
राहु के साथ सूर्य, चन्द्र या मंगल की छाया हो तो दोषी गोमेद शुभ फल देगा ।

लहसुनिया :
केतु के साथ चन्द्र, सूर्य, मंगल या गुरु की दशा हो तो दोषी लहसुनिया भी लाभकारी होगा ।

Our Facebook Page Link

कोई समस्या है या कोई सवाल है तो आप हमे परामर्श हेतु संपर्क कर सकते है (मो.) 9438741641 {Call / Whatsapp}

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *