कामराज आकर्षण यन्त्र [ पत्नी -प्रेमिका ]

Kamraj Aakarshan Yantra

Kamraj Aakarshan Yantra : यदि किसी की स्त्री अथवा प्रेमिका उससे रूठकर दूर हो जाए या चली जाए तो इस स्थिति में आकर्षण यंत्र क्रिया की जाती है । आकर्षण में पुतली विद्या का प्रयोग बहुत कारगर होता है क्योकि इच्छित व्यक्ति दूर होता है या सामने नहीं होता । इसलिए वशीकरण की बजाय आकर्षण … Read more

प्रेमिका वशीकरण यंत्र

premika vashikaran yantra

Premika Vashikaran Yantra : प्यार का आदान प्रदान जीबन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, और जब कोई हमारे प्यार को हमसे दूर रख देता है , तो यह कठिनाईयां उत्पन्न कर सकती है । इस बिशेष प्रेम यंत्र के माध्यम से हम अपने प्रेमिका से मिलने का सपना पूरा कर सकते हैं । यह वशीकरण … Read more

कर्ण पिशाचिनी प्रयोग

कर्ण पिशाचिनी प्रयोग

कर्ण पिशाचिनी प्रयोग : एक अनोखी साधना है कर्ण पिशाचिनी । इस साधना को व्यक्ति स्वयं कभी संपन्न नहीं कर सकता । उसे विशेषज्ञों और सिद्ध गुरुओं के मार्गदर्शन से ही सीखा जा सकता है । स्वयं करने से इसके नकारात्मक परिणाम भी देखे गए हैं । इस साधना को सिद्ध करने के बाद साधक … Read more

अघोर साधना क्या है ?

अघोर साधना :

अघोर साधना क्या है ? अघोरेश्वर महादेव की साधना उन लोगों को करनी चाहिए जो समस्त सांसारिक बंधनों से मुक्त होकर शिव गण बनने की इच्छा रखते हैं । इस अघोर साधना से आप को संसार से धीरे धीरे विरक्ति होनी शुरू हो जायेगी इसलिए विवाहित और विवाह सुख के अभिलाषी लोगों को यह साधना … Read more

अघोर ब्रम्हास्त्र साधना कैसे करें ?

अघोर ब्रम्हास्त्र साधना

अघोर ब्रम्हास्त्र साधना कैसे करें ? शिव अघोर ध्यान मंत्र : {{ “महास्य माहिकर्णम्मच चंद्रसूर्याग्निलोचनं संदष्ट्रं तं महाजिह्व मूध्र्व वक्त्रं विचिन्तयेत “}} अघोर ब्रम्हास्त्र साधनार मंत्र –: {{“ ॐ अघोर रुपे श्रीब्रम्ही अवतर -अवतर ब्रम्हास्रं देहि में देहि स्वाहा। ”}} अघोर ब्रम्हास्त्र साधना विधि – ब्रम्ह अस्त्र साधना या फिर पशुपतास्त्र एवं सिद्धि बहोत ही … Read more

अर्पणा अप्सरा साधना कैसे करें ?

अर्पणा अप्सरा साधना :

अर्पणा अप्सरा साधना कैसे करें ? अप्सरा स्वर्ग में रहने वाली अत्यंत सुन्दर ,मनमोहक , प्रेम की साक्षात् मूर्ति होती है । जिसका नाम जुबान पर आते ही मन में एक अत्यंत सुन्दर कन्या का स्वरुप जहन में आ जाता है । हर व्यक्ति उस स्वर्ग की अप्सरा से मिलने के लिए तैयार होता है … Read more

अघोर क्रियागत कर्णपिशाचि मंत्र

अघोर क्रियागत कर्णपिशाचि मंत्र

अघोर क्रियागत कर्णपिशाचि मंत्र : कर्णपिशाचि मंत्र : ओम ह्रीं कर्णपिशाचिनी अमोघ सत्यबादिनी मम कर्णे अबतर अबतर सत्यं कथय कथय अतीतानागत बर्तमान दर्शय दर्शय एं ह्रीं ह्रीं कर्णपिशाचिनी स्वाहा । कृष्णपक्ष की त्रयोदशी से अमाबस तक इसका प्रयोग है, परंन्तु कृष्ण त्रुतीया से ही नहाना- धोना, सन्ध्या बन्दन, मुख शोधन – सभि कर्म बंन्द करें … Read more

पंच मकार से मोक्ष प्राप्ति का मार्ग है : अघोर

पंच मकार से मोक्ष प्राप्ति का मार्ग है : अघोर

पंच मकार से मोक्ष प्राप्ति का मार्ग है : अघोर अघोरी शब्द सुनते ही आंखों के सामने एक नंग-धड़ंग भयावह दिखने वाले साधु का चेहरा आंखों के सामने साकार हो उठता है । अपनी छवि के अनुरूप ही अघोरियों की पूजा तथा धार्मिक क्रिया कलाप होते हैं । ये अपनी पूजा पद्धति में पंच मकार … Read more

गुप्त अघोर साधना क्या है?

गुप्त अघोर साधना

गुप्त अघोर साधना : (प्राचीन गुप्त अघोर साधना अघोरी की शैब मंत्र की बिद्दा केबल जानकारी हेतु दी गई है, इसको न करें) साधकों गुप्त अघोर साधना कोई आम प्रयोग नहीं है, यह शैब तंत्र की साधना में आती है । यह गुप्त अघोर साधना अत्यंत उग्र है । अघोरीयों के आगे बडे-बडे साधक एबं … Read more